breaking news New

पोस्ट कोविड केयर ओपीडी पहुंच कलेक्टर ने देखी व्यवस्था

  पोस्ट कोविड केयर ओपीडी पहुंच कलेक्टर ने देखी व्यवस्था


बालोद। कलेक्टर जनमेजय महोबे ने आज जिला अस्पताल बालोद के प्रथम तल कमरा नम्बर-109 में शुरू किए गए पोस्ट कोविड केयर ओपीडी का आकस्मिक निरीक्षण कर जायजा लिया। उन्होंने वहां विशेषज्ञ चिकित्सकों की ड्यूटी व आवश्यक व्यवस्थाओं की जानकारी ली। मरीजों के उपचार के लिए बनाए गए विभिन्न कक्षों का अवलोकन किया तथा आवश्यक निर्देश दिए।
सिविल सर्जन डॉ. एस.एस.देवदास ने बताया कि स्वस्थ हुए कोरोना संक्रमित मरीजों के मानसिक स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याओं अवसाद, बेचैनी, नींद की कमी व कुछ मरीजों में थकान, कमजोरी, सांस लेने में कठिनाई इत्यादि से संबंधित परामर्श एवं उपचार के लिए जिला अस्पताल में पोस्ट कोविड केयर ओपीडी शुरू की गई है। सिविल सर्जन ने बताया कि ओपीडी में नेत्र रोग विशेषज्ञ/आर.एम.ओ., मेडिसिन विशेषज्ञ, शिशुरोग विशेषज्ञ, ई.एन.टी.चिकित्सक, दंत चिकित्सक, फिजियोथेरिपिस्ट एवं मेडिकल लैब टेक्नीशियन की ड्यूटी लगाई गई है। कलेक्टर ने कहा कि कोरोना पॉजिटिव होने के पश्चात ठीक हुए मरीज जिसको स्वास्थ्य से संबंधी कोई भी समस्या होने पर पोस्ट कोविड केयर ओ.पी.डी. में अपना जॉच व उपचार करा सकते हैं। इस अवसर पर डॉ. देवेन्द्र साहू, तहसीलदार रश्मि वर्मा आदि मौजूद थे।


45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के शतप्रतिशत व्यक्तियों का टीकाकरण सुनिश्चित करें
कलेक्टर जनमेजय महोबे ने कहा कि कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम के तहत् टीकाकरण के प्रथम डोज के लिए शेष बचे 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के शतप्रतिशत व्यक्तियों का टीकाकरण सुनिश्चित करें। श्री महोबे आज संयुक्त जिला कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित स्वास्थ्य विभाग की बैठक में निर्देशित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि संबंधित क्षेत्र के एस.डी.एम, जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारी, पंचायत सचिव, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, मितानिन ग्रामों में 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के शेष बचे व्यक्तियों को टीकाकरण के लिए प्रेरित करें। कलेक्टर ने कहा कि भीड़भाड़ वाले स्थानों, कंटेनमेंट जोन घोषित क्षेत्रों में कैम्प लगाकर शासन से प्राप्त लक्ष्य के अनुरूप कोरोना सैम्पल लेकर जांच की जाए। कलेक्टर ने कंटेनमेंट जोन व माईक्रो कंटेनमेंट जोन घोषित वाले क्षेत्रों में कोविड-19 के नियमों का कड़ाई से पालन कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि एस.डी.एम., तहसीलदार व सर्विलेंस टीम उक्त क्षेत्रों का भ्रमण कर निरीक्षण करें। नियमों का उल्लंघन करने वालों पर कार्रवाई करें। उन्होंने कहा कि जिले में 27 मई से विभिन्न गतिविधियां संचालित करने की छूट प्रदान की गई है। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री लोकेश कुमार चन्द्राकर, कोविड-19 के टीकाकरण के जिला नोडल अधिकारी एवं डिप्टी कलेक्टर अभिषेक दीवान, डिप्टी कलेक्टर प्रेमलता चंदेल, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ जे.पी. मेश्राम, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ एस.के.सोनी सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।
भीमकन्हार, भेड़ी, कंवर, फागुनदाह सहित 11 ग्रामों का चौहद्दी कन्टेनमेंट जोन घोषित
कलेक्टर ने आदेश जारी कर बालोद जिला अंतर्गत डौण्डीलोहारा तहसील के ग्राम भीमकन्हार, भेड़ी, मडिय़ाकट्टा, भण्डेरा, फुलसुन्दरी, चिल्हाटीकला, कोचेरा, खपराभाट और गुरूर तहसील के ग्राम पेटेचुवा, कंवर व ग्राम फागुनदाह में कोरोना पॉजिटिव केस पाए जाने के कारण कोरोना वायरस के संक्रमण के फैलाव को दृष्टिगत रखते हुए उक्त ग्रामों के चौहद्दी को कन्टेनमेंट जोन घोषित किया है। जारी आदेश में ग्राम भीमकन्हार के पूर्व दिशा में गारका, कोसमी, पश्चिम दिशा में मुडख़ुसरा, कोचेरा,  उत्तर दिशा में मुढिय़ा और दक्षिण दिशा में बिजौरा को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। इसी प्रकार ग्राम भेड़ी के पूर्व दिशा में बडग़ांव, कोहकाभाटा, पश्चिम दिशा डौण्डीलोहारा, उत्तर दिशा में सम्बलपुर और दक्षिण दिशा में बटेरा, जोगीभाट को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। ग्राम मडिय़ाकट्टा के पूर्व दिशा में कसही, पश्चिम दिशा में मुण्डाटोला व घोरदा, उत्तर दिशा में धनगांव और दक्षिण दिशा में करियागोंदी व बगईकोन्हा को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। ग्राम भण्डेरा के पूर्व दिशा में परसाडीह, पश्चिम दिशा में पसौद, उत्तर दिशा में फरदफोड़ और दक्षिण दिशा में हथौद को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। ग्राम फुलसुन्दरी के पूर्व दिशा में खामभाठ, पश्चिम दिशा में परना(राजनंादगॉव), उत्तर दिशा में पिनकापार और दक्षिण दिशा में पतोरा(राजनांदगॉव) को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। ग्राम चिल्हाटीकला के पूर्व दिशा में बडग़ाव, पश्चिम दिशा में रेंगनी, उत्तर दिशा में खड़ेनाडीह, पार्री, देवरी और दक्षिण दिशा में चिल्हाटीखुर्द को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। ग्राम कोचेरा के पूर्व दिशा में भीमकन्हार, कोसमी, कुम्हालोरी, पश्चिम दिशा में दुचेरा, उत्तर दिशा में मुडख़ुसरा और दक्षिण दिशा में बिजोरा, खरथुली को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। ग्राम खपराभाट के पूर्व दिशा में सुरसुली, देवरी, पश्चिम दिशा में रीवागहन, उत्तर दिशा में पीपरखार, नाहंदा और दक्षिण दिशा में मार्री को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। ग्राम पेटेचुवा के पूर्व दिशा में बड़भूम, पश्चिम दिशा में  वन की ओर(आरक्षित वन), उत्तर दिशा में नगझर और दक्षिण दिशा में कांकेर जिला की सीमा को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। ग्राम कंवर के पूर्व दिशा में वार्ड क्रमांक 06, पश्चिम दिशा में वार्ड क्रमांक 07,08,09, उत्तर दिशा में वार्ड क्रमांक 02,03,04 और दक्षिण दिशा में वार्ड क्रमांक 02,10,13 को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। ग्राम फागुनदाह के पूर्व दिशा में बागतराई चंदनबिरही, पश्चिम दिशा में दर्रा का सीमा, उत्तर दिशा में पेरपार का सीमा और दक्षिण दिशा में उमरवारा का सीमा को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। चिन्हांकित क्षेत्रों अंतर्गत सभी दुकानें एवं अन्य वाणिज्यिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे। प्रभारी अधिकारी द्वारा कन्टेनमेंट जोन में घर पहुॅच सेवा के माध्यम से आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति की जाएगी। कन्टेनमेंट जोन अंतर्गत सभी प्रकार के वाहनों के आवागमन पर प्रतिबंध रहेगा। मेडिकल इमरजेंसी को छोड़कर अन्य किसी भी कारण से घर से बाहर निकलना प्रतिबंधित होगा। कन्टेनमेंट जोन में केवल एक प्रवेश एवं निकास की व्यवस्था हेतु बेरिकेटिंग, कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग, प्रवेश एवं निकास सहित क्षेत्र की सेनेटाईजिंग व्यवस्था एवं आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने, स्वास्थ्य टीम को एस.ओ.पी. अनुसार दवा, मास्क, पी.पी.ई.किट इत्यादि उपलब्ध कराने एवं बायो मेडिकल अपशिष्ट प्रबंधन, घरों का एक्टिव सर्विलांस और खण्ड स्तर पर स्थापित नियंत्रण कक्ष में व्यवस्था हेतु प्रभारी अधिकारी नियुक्त किया गया  है।