breaking news New

जज के आवास में चोरी करने वाले चार आरोपी गिरफ्तार, एक फरार

 जज के आवास में चोरी करने वाले चार आरोपी गिरफ्तार, एक फरार

कोरबा। सीएसईबी पुलिस चौकी क्षेत्र अंतर्गत 22 अगस्त को हुई चोरी को पुलिस ने महज 09 दिन में किया खुलासा। मामले की जानकारी के अनुसार 22 अगस्त को रमेश कुमार चौहान सीएसईबी कॉलोनी जिला कोरबा द्वारा पुलिस चौकी सीएसईबी में मामले दर्ज कराया। कि दिनांक 19 अगस्त से 22 अगस्त के दरमियान वह सपरिवार रायगढ़ गए हुए थे। इस दौरान किसी अज्ञात आरोपी द्वारा उनके आवास अंदर घुस कर करीब 159500 रुपए कीमती सोने चांदी के जेवर तथा 40 हजार नगदी रकम को चोरी कर लिया गया है। प्रार्थी की रिपोर्ट पर अपराध क्र.791/21 धारा 457,380 पंजीबद्ध कर विवेचना मे लिया गया तथा घटना के सम्बन्ध मे वरिष्ठ अधिकारियो को अवगत कराया गया।

मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक कोरबा भोजराम पटेल के निर्देशन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कोरबा कीर्तन राठौर के मार्गदर्शन एवं नगर पुलिस अधीक्षक कोरबा योगेश कुमार साहू के पर्यवेक्षण में प्रकरण के अज्ञात आरोपी एवं चोरी गए मशरूका की पतासाजी तथा प्रभावी कार्यवाही हेतु थाना प्रभारी कोतवाली निरीक्षक विवेक शर्मा चौकी प्रभारी सीएसईबी उप निरीक्षक आशीष कुमार सिंह एवं साइबर सेल प्रभारी निरीक्षक कृष्णा साहू सहायक उपनिरीक्षक दुर्गेश राठोर को निर्देशित किया गया था। अज्ञात आरोपी गढ़ की पतासाजी के दौरान 31 अगस्त को मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर ढोढ़ीपारा भैंस खटाल निवासी संदेही उमाशंकर साहू उफऱ् वीरू पिता नरेंद्र कुमार साहू उम्र 19 वर्ष एवं श्याम वैष्णव पिता बल्लू वैष्णव उम्र 22 वर्ष को पकड़कर हिरासत में लेकर पूछताछ करने पर आरोपियों द्वारा अपने साथी फागू चंद बारीक, प्रभाकर सहिस, राजेश चौबे एवं विकास दास के साथ मिलकर प्रार्थी के घर सोने चांदी के जेवर एवं नकदी रकम की चोरी करना स्वीकार किए। आरोपी गण के मेमोरेंडम कथन के आधार पर मामले के अन्य आरोपियों प्रभाकर सहिस उर्फ साधु उर्फ छोटू पिता स्वर्गीय बुधराम सहिस उम्र 24 वर्ष, फागूचंद बारीक पिता स्वर्गीय गोपाल चंद बारीक उम्र 39 वर्ष एवं राजेश चौबे पिता बालेश्वर चौबे उम्र 42 वर्ष सभी निवासी ढोड़ी पारा भैंस खटाल हनुमान मंदिर के पास चौकी सीएसईबी थाना कोतवाली जिला कोरबा को पकड़कर पूछताछ करने पर जुर्म घटित करना स्वीकार किए एवं चुराई हुई सोने चांदी के जेवरात व कुछ रकम विकास महंत द्वारा खर्चे के लिए देने बाद मामला शांत होने पश्चात बंटवारा करना बताया गया। 

उपरोक्त आरोपीयों के कबूल नामे के आधार पर नगदी रकम एवं घटना में प्रयुक्त औजार पेचकस, हथोड़ा, एक्सल ब्लेड जप्त किया गया है एवं आरोपीयों को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर माननीय न्यायालय पेश किया गया है। एक अन्य आरोपी विकास महंत फरार है जिसकी गिरफ्तारी एवं मशरूका बरामदगी जल्द से जल्द किया जाता है। घटना को महज 09 दिवस के भीतर सुलझाने में चौकी प्रभारी सीएसईबी उपनिरीक्षक आशीष कुमार सिंह, सहायक उपनिरीक्षक भागीरथी चौधरी, प्रधान आरक्षक अमर सिंह, आरक्षक देव नारायण कुर्रे,रितेश शर्मा, तिलक पटेल, जय प्रकाश, अभिषेक पांडेय व साइबर सेल कोरबा प्रभारी उपनिरीक्षक कृष्णा साहू, सहायक उपनिरीक्षक दुर्गेश राठोर, आरक्षक गंगाराम डांडे, डेमन ओग्रे व टीम की सराहनीय भूमिका रही है।