breaking news New

किसानों के मुद्दे पर भाजपा ने बोला हल्ला, कहा वादा से न मुकरे राज्य सरकार

किसानों के मुद्दे पर भाजपा ने बोला हल्ला, कहा वादा से न मुकरे राज्य सरकार

दुर्ग । किसानों की समस्याओं को लेकर प्रदेश भाजपा के विधानसभा स्तरीय धरना-प्रदर्शन के आव्हान के तहत बुधवार को दुर्ग शहर विधानसभा में भी भाजपा कार्यकर्ताओं ने धरना- प्रदर्शन कर राज्य के भूपेश बघेल सरकार की नीतियों के खिलाफ  जमकर अपनी आवाज बुलंद की। हिंदी भवन के सामने आयोजित भाजपा के धरना-प्रदर्शन में राज्यसभा सदस्य सुश्री सरोज पांडेय, प्रदेश भाजपा मंत्री उषा टावरी, पूर्व महापौर चंद्रिका चंद्राकर, जिला भाजपा अध्यक्ष डॉ. शिवकुमार तमेर,  जिला भाजपा किसान मोर्चा अध्यक्ष रत्नेश चंद्राकर, जिला भाजयुमो अध्यक्ष दिनेश देवांगन, जिला भाजपा महिला मोर्चा अध्यक्ष सरिता मिश्रा, नेता प्रतिपक्ष अजय वर्मा, संतोष सोनी के अलावा भाजपा के विभिन्न प्रकोष्ठो के कार्यकर्ता बड़ी संख्या में जुटे। धरना में भाजपा नेताओं ने राज्य सरकार पर  किसानों के साथ वादाखिलाफी करने, धान खरीदी केंद्रों में अव्यवस्था, बारदाने  का अभाव, रकबा में  कटौती करने एवं किसानों से जुड़े अन्य मुद्दों पर आरोप लगाते हुए राज्य सरकार को जमकर कोसा। धरना  उपरांत भाजपा नेताओं व कार्यकर्ताओं ने जिला कलेक्ट्रेट पहुंचकर राज्यपाल के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपकर किसानों की समस्याओं से अवगत कराया और समस्या निराकरण पर जोर दिया गया ।

इसके पहले भाजपा नेताओं व कार्यकर्ताओं द्वारा शहर में रैली भी की गई। यह रैली जिला भाजपा कार्यालय से प्रारंभ होकर जवाहर चौक, मोती कांप्लेक्स, पुराना बस स्टैंड, पटेल चौक होते हुए हिंदी भवन के सामने धरना के रूप में तब्दील हुई। यहां धरना को संबोधित कर भाजपा नेताओं व कार्यकर्ताओं द्वारा राज्य की भूपेश बघेल सरकार को किसान विरोधी बताया गया, वहीं केंद्र की मोदी सरकार की नीतियों की जमकर तारीफ की गई। भाजपा नेताओं ने कहा कि छत्तीसगढ़ के भोले-भाले किसानों को गुमराह कर राज्य सरकार सत्ता में बैठी है।

अब उन्ही किसानों के साथ छलकर राज्य सरकार द्वारा उन्हे परेशान किया जा रहा है। धान खरीदी केन्द्रों में अव्यवस्था है। किसानों को बारदाने उपलब्ध नहीं करवाए जा रहे है। रकबा में कटौती जैसे समस्याओं से किसान जूझ रहे है। जिससे किसानों को आत्महत्या करने के लिए विवश होना पड़ रहा है। राज्य सरकार का यह रवैय्या किसानों के साथ बड़ा अन्याय है। उन्होंने कहा कि  केन्द्र सरकार अपने कोटे का धान खरीदी करने के लिए तटस्त है। राज्य सरकार को धान खरीदी के लिए पहले ही केन्द्र सरकार 9 हजार करोड़ उपलब्ध करवा चुकी है।

भाजपा नेताओं पर धान खरीदी को बाधित करने का कांग्रेस द्वारा झूठा आरोप लगाया जा रहा है। किसानों को बारदाना उपलब्ध करवाने का कार्य केन्द्र सरकार का नहीं है। यह कार्य राज्य सरकार का है। राज्य सरकार अपनी खामियां छिपाने केन्द्र सरकार व भाजपा नेताओं पर अर्नगल आरोप लगा रही है। क्योंकि राज्य सरकार का झूठ बोलना व वादा खिलाफी करना आधार है। धरना प्रदर्शन में पार्षद राकेश सेन, चंद्रशेखर चंद्राकर, सुरेश दीक्षित गजेंद्र यादव, रजा खोखर, दीपक चोपड़ा, के.एस. चौहान, सतविंदर सिंह, शिवेंद्र सिंह परिहार, राजा महोबिया, गौरव शर्मा, मनीष बंजारे, सतीश समर्थ, अलका बाघमार, गायत्री वर्मा, वाणी सोनी समेत भाजपा के विभिन्न प्रकोष्ठो के कार्यकर्ता बड़ी संख्या में शामिल हुए।