breaking news New

मनरेगा के सभी श्रमिकों को श्रम विभाग में पंजीकृत कराने के लिए चलेगा अभियान - सीइओ

मनरेगा के सभी श्रमिकों को श्रम विभाग में पंजीकृत कराने के लिए चलेगा अभियान - सीइओ

बैकुण्ठपुर।  महात्मा गांधी नरेगा के तहत पंजीकृत सभी श्रमिकों को श्रम विभाग की योजनाओं का लाभ दिलाने के लिए अभियान चलाकर ऑनलाइन पंजीयन कराया जाएगा। इससे आने वाले समय में उन्हे अपने व अपने परिवार के लिए अलग-अलग तरह की योजनाओं का सीधा लाभ मिल सकेगा। इस पंजीयन कार्य के बारे में सभी संबंधितों को निर्देशित करते हुए जिला पंचायत सीइओ  कुणाल दुदावत ने कहा कि ई श्रम के पोर्टल पर होने वाले इस रजिस्ट्रेशन के तुरंत बाद ही संबंधित श्रमिक को दो लाख रूपए का बीमा कवर मिलने लगेगा।

इस पोर्टल पर पंजीयन के बाद श्रमिकों को केंद्र से एक यूनिक आईडी जारी की जाएगी जिससे पूरे देष में उनकी एक विषिष्ट पहचान संख्या हो जाएगी। विभिन्न प्रदेषों में जाकर कार्य करने वाले श्रमिकों और उनके परिवारों को इससे लाभ मिल सकेगा वह उस राज्य की श्रम कल्याणकारी योजनाओं से सीधे जुड़ सकेंगे।

इसके अलावा आने वाले समय में उक्त श्रमिक किसी भी जगह जाकर अपना काम कर सकते हैं। सभी जनपद पंचायत के मुख्यकार्यपालन अधिकारियों और कार्यक्रम अधिकारियों को निर्देषित करते हुए उनहोने कहा कि सभी ग्राम पंचायतों में वीएलई के माध्यम से या फिर चाइस सेंटर के माध्यम से या फिर रोजगार सहायकों के द्वारा आनलाइन भी इस पोर्टल पर डाटा भरकर श्रमिकां का पंजीयन कराया जा सकता है। इसके लिए उनके आधार कार्ड, बैक खाते तथा मोबाइल नंबर की जरूरत होगी।

इनकी इंट्री करने के बाद आधार से जुड़े हुए मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा जिसे पोर्टल में भरने से पंजीयन कराने वाले श्रमिक का यूआईडी नंबर प्राप्त हो जाएगा। इसके पंजीयन का कार्ड कहीं से भी प्रिंट लिया जा सकता है। जिला पंचायत सीइओ ने अभियान चलाकर मनरेगा श्रमिकों के ऑनलाइन पंजीयन के निर्देश दिए।

       जिला पंचायत के मंथन कक्ष में सीइओ  दुदावत ने पंचायत एंव ग्रामीण विकास विभाग की सभी योजनाओं की समीक्षा करते हुए संबंधितों को आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किए। श्रमिकों के रोजगार की स्थिति की समीक्षा करते हुए ! उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायतों में अब धान कटाई के बाद श्रमिकें को रोजगार की जरूरत होगी एैसे में मांग के आधार पर प्रत्येक ग्राम पंचायत में मनरेगा कार्यों को प्रारंभ कराएं।

वनाधिकार पत्रक धारियों के भूमि पर होने वाले सभी कार्यों को अविलंब प्रारंभ कराने के निर्देश देते हुए उन्होने कहा कि इन सभी परिवारों को 100 दिन का सुनिश्चित रोजगार प्रदान करने के लिए कार्य योजना बनाकर रोजगार मूलक कार्यों में संलग्न करने के निर्देश दिए। जिला पंचायत सीइओ ने सभी निर्माण एजेंसियों को स्वीकृत किए गए मनरेगा कार्यों की प्रगति की ब्लाकवार समीक्षा करते हुए कहा कि इस वित्तीय वर्ष के प्रारंभ में स्वीकृत किए गए कार्यों को एक माह में पूरा करना सुनिश्चित करें।

पौधरोपण कार्यों की समीक्षा करते हुए उन्होंने कहा कि श्री राम वन गमन पथ वृक्षारोपण कार्य में खराब हो चुके पौधों को अविलंब बदलकर नए पौधे लगाएं और उनकी नियमित सिंचाई की व्यवस्था करें। ब्लाक प्लांटेशन के भी कार्यों में पौधों की जीवितता सुनिश्चित करने के लिए नियमित सिंचाई कराने के निर्देश दिए।

इसके अतिरिक्त उन्होंने महात्मा गांधी नरेगा के सभी मानक बिंदुओं पर समीक्षा करते हुए अपेक्षित प्रगति अनुरूप कार्य करने के निर्देश दिए। नरवा कार्यों को प्राथमिकता में रखकर कार्यों को पूरा कराने और उनके मूल्यांकन के निर्देश देते हुए श्री दुदावत ने कहा कि कार्यों की स्वीकृति में निर्धारित की गई कार्य पूर्णता की समय-सीमा का विशेष ध्यान रखें। समीक्षा बैठक में उन्होंने महिला श्रमिकों को पर्याप्त रोजगार के अवसर देने के लिए निर्देश दिए।

इसके अलावा उन्होंने मनरेगा के तहत होने वाले पक्के कार्यों, स्वच्छ भारत मिशन के कार्यें के अतिरिक्त ग्रामीण यांत्रिकी सेवा विभाग द्वारा कराए जा रहे विभिन्न विकास कार्यों की प्रगति की समीक्षा कर संबंधितों को आवश्यक दिशा- निर्देश प्रदान किए। इस बैठक में अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा के कार्यपालन अभियंता सहित अन्य निर्माण एजेंसियों के अधिकारी उपस्थित रहे।