मेघा में लॉकडाउन सरपँच शंकर साहू के नेतृत्व में व्यापारियों का विशेष सहयोग

मेघा में लॉकडाउन सरपँच शंकर साहू के नेतृत्व में व्यापारियों का विशेष सहयोग

किसन लाल विस्वकर्मा

मगरलोड, 27 सितंबर। विकास खण्ड मगरलोड की ह्रदय स्थल कहे जाने वाले सेनानी ग्राम मेघा को महामारी कोरोना की बढ़ती हुई संख्या को देखते हुए दिन शनिवार 27 सितंबर से 30सितम्बर तक ग्राम पंचायत मेघा के तेजतर्रार युवा सरपँच शंकर साहू के नेतृत्व में एवं समस्त व्यपारीयो के स्वतः सहयोग से लॉकडाउन किया गया है।

सरपँच शंकर साहू ने ध्वनि विस्तारक यंत्र के माध्यम से पूरा गांव के कोने-कोने में जाकर लोगों को जागरूक करते हुए कहा कि आज की वर्तमान स्थिति को देखते हुए हम सबको अपना स्वास्थ्य पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए और तो और लोगों को ग्रामीणों एवं व्यापारियों को मास्क उपयोग कर सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए सेनेटाइजर का उपयोग करने के लिए अपील किया गया। 


सरपँच शंकर साहू ने कहा की अभी वर्तमान स्थिति में पैसा कमाने से ज्यादा शरीर की सुरक्षा महत्वपूर्ण है और इस बात को मेघा के व्यपारीयो द्वारा प्रमुखता लिया और अपना दुकान बंद करके लाकड़ाउन की समर्थन किया।ज्ञात हो,महामारी कोरोना संक्रमण को लेकर सरपंचों में सक्रियता देखा जाये तो मगरलोड ब्लॉक के कुल 66पंचायत की सरपंचो में तो गौरव ग्राम पंचायत मेघा के शंकर साहू जैसा सक्रिय सरपँच और कोई दूसरा नहीं दिखाई देता है। 

बता दे की सरपँच शंकर साहू एक ऐसा शख्स है, जो प्रारम्भ से  इस महामारी काल मे खुद जनता के बीच जाकर कोरोना संक्रमण को लेकर जागरूक करते दिखाई देता है और तो और यह सरपँच गांव के लोगो के समस्याओ को मोबाईल फोन के वार्डशॉप ग्रुप के माध्यम से जानकारी लेकर उनका समस्याओं का निदान भी करता है। उनका कहना है की,जनता ने आखिर मुझे इसी देख-रेख के लिए मुझे चुना है और मै उनके सोच पर पूरा खरा उतने का प्रयास करने की बात कही।ग्राउंड रिपोर्ट के माध्यम से वही आम जनता से विचार भी सरपँच शंकर साहू के बारे जानने का कोशिश किया तो ग्राम पंचायत मेघा लोग एवं व्यपारी उनसे संतुष्ट है।अब देखने वाली बात रहेगी आखिर कब तक सरपँच शंकर साहू अपने  अपने गाँव के जनता को एवं व्यपारियो को संतुष्ट कर पाते है, ये अपने आप में महत्वपूर्ण सवाल बना हुआ है।