breaking news New

VIDEO- सारागांव में बहुप्रतीक्षित शासकीय नवीन महाविद्यालय का हुआ विधिवत शुभारंभ,कोरोना वारियर्स का सम्मान

VIDEO- सारागांव में  बहुप्रतीक्षित शासकीय नवीन महाविद्यालय का हुआ विधिवत शुभारंभ,कोरोना वारियर्स  का सम्मान


जांजगीर-चांपा। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 152 वी जयंती के अवसर पर छत्तीसगढ़ विधानसभा  अध्यक्ष डॉ चरणदास महंत ने आज नगर पंचायत सारागांव में नवीन शासकीय महाविद्यालय का विधिवत शुभारंभ किया। स्वर्गीय जानकी देवी स्मृति कन्या महाविद्यालय परिसर में आयोजित शुभारंभ समारोह की अध्यक्षता कोरबा लोकसभा सांसद श्रीमती ज्योत्सना महंत ने की । कार्यक्रम का आगाज़  राजगीत से हुआ।

 डॉ. महंत और उपस्थित अतिथियों ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, पंडित लाल बहादुर शास्त्री और स्वर्गीय बिसाहू दास महंत के तैल चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें अपनी विनम्र श्रद्धांजलि दी।  विद्यालय प्रांगण पर स्थित स्वर्गीय जानकी देवी महंत की मूर्ति पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित किया गया।

कार्यक्रम में कोविड-19, संक्रमण के दौरान समर्पित भाव से मरीजों की सेवा करने वाली मितानीन, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका, शिक्षक, स्वच्छता कर्मचारियों, पुलिस सहित अन्य विभाग के मैदानी अमलों का सम्मान किया गया। महाविद्यालय और उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के शिक्षकों ने डॉ. महंत को चरखा और अभिनंदन पत्र भेंट कर सम्मानित किया।


डॉ महंत ने सारागांव में नवीन महाविद्यालय के शुभारंभ होने पर विद्यार्थियों और क्षेत्र की आम जनता को बधाई  और शुभकामनाएं देते हुए कहा कि नगर की बहुप्रतीक्षित मांग आज पूरी हो गई है। महाविद्यालय के विकास एवं सुव्यवस्थित संचालन के लिए जनप्रतिधियों और स्थानीय लोगों की भागीदारी महत्वपूर्ण होगी। शासन द्वारा महाविद्यालय भवन निर्माण के लिए प्राथमिक रूप से 7 करोड़ रुपए की स्वीकृति प्रदान की गई है।  विधानसभा अध्यक्ष ने गांधी जयंती पर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि उन्होंने 21 वर्ष विदेश में रहने के बाद स्वदेश लौटकर  स्वतंत्रता संग्राम का नेतृत्व किया। उनके कठिन संघर्षों के कारण ही आज हम आज स्वतंत्र भारत में रह रहे हैं।  उन्होंने बताया कि पंडित लाल बहादुर शास्त्री ने हमारे अन्नदाता किसानों और देश की रक्षा करने वाले जवानों को सम्मान दिलाने देने के लिए "जय जवान और जय किसान" का नारा दिया ।  उन्होंने अपने पिता एवं अविभाजित मध्यप्रदेश के पूर्व मंत्री स्वर्गीय श्री बिसाहू दास महंत को याद करते हुए कहा कि उनके बताए हुए मार्ग पर चलकर आज हम विकास की राह पर अनवरत आगे बढ़ रहे हैं। उनके सपनों को साकार करने  के लिए सतत प्रयास किए जा रहे हैं। 

 कलेक्टर श्री जितेंद्र कुमार शुक्ला ने कहा कि जिले के समुचित विकास के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है। कोई भी व्यक्ति अपनी समस्या के निराकरण के लिए जिला प्रशासन के समक्ष अपनी बात रख सकता है।नियमानुसार समस्याओं का निराकरण करने का प्रयास किया जाएगा।


नवीन महाविद्यालय के प्रभारी प्राचार्य श्री बी के पटेल ने प्रतिवेदन प्रस्तुत करते हुए बताया  कि महाविद्यालय के संचालन के लिए प्रोफेसर सहित कुल 35 पद स्वीकृत किए गए हैं। यहां बीए, बीकॉम, बीएससी बायो और गणित संकाय के  प्रथम वर्ष के लिए कुल 270 सीटों की स्वीकृति दी गई है। अब तक 134 सीटों पर छात्र-छात्राओं ने प्रवेश ले लिया है। उन्होंने बताया कि महाविद्यालय में प्रवेश की प्रक्रिया जारी है। सारागांव तथा आसपास के अन्य ग्रामीण क्षेत्रों  के विद्यार्थियों को नवीन महाविद्यालय उच्च शिक्षा का लाभ मिलेगा। पहले चांपा,  बिर्रा और जेठा महाविद्यालय तक यहां के विद्यार्थियों को पढ़ाई के लिए जाना पड़ता था । सारा गांव में नया महाविद्यालय प्रारंभ हो जाने से अब सारा गांव सहित आसपास के विद्यार्थियों को महाविद्यालयीन शिक्षा के लिए दूर तक सफर तय करने से मुक्ति मिल गई है।

 इस अवसर पर सारागांव नगर पंचायत के अध्यक्ष श्री बालकृष्ण सूर्यवंशी, सर्वश्री मनहरण राठौर, गुलजार सिंह, दिनेश शर्मा, प्रिंस, विवेक सिसोदिया, राजेश अग्रवाल, डाँ. के पी राठौर, नीलकंठ राठौर, बालेश्वर साहू , सहित नगर पंचायत के पार्षद, एल्डरमैन, गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।