breaking news New

मध्य प्रदेश का 'सबसे बड़ा गद्दार' करार देते हुए सिंधिया ने दिग्विजय सिंह पर लगाया आरोप

मध्य प्रदेश का 'सबसे बड़ा गद्दार' करार देते हुए सिंधिया ने दिग्विजय सिंह पर लगाया आरोप

भोपाल। मध्य प्रदेश में  28 सीटों के लिए हो रहे उप चुनाव को लेकर भाजपा  और कांग्रेस जोर-शोर से चुनाव प्रचार में जुटी हुई हैं. चुनाव प्रचार के दौरान  आरोप प्रत्यारोप का दौर भी दोनों पार्टियों के बीच जारी है. अब दोनों पक्षों की तरफ से 'गद्दार' को लेकर घमासान मचा हुआ है.

भाजपा  नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता कमलनाथ और दिग्विजय सिंह को मध्य प्रदेश का 'सबसे बड़ा गद्दार' करार देते हुए आरोप लगाया है कि उन्होंने 'भ्रष्ट' सरकार चलाकर मतदाताओं को धोखा दिया. ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सोमवार को कहा कि उन्होंने हर मोर्चे पर लोगों के मुद्दे को उठाया, लेकिन उनकी बात नहीं सुनी गई जिसके बाद उन्हें कांग्रेस छोड़ने का फैसला करना पड़ा.   

ज्योतिरादित्य सिंधिया से पहले दिग्विजय सिंह के बेटे और पूर्व मंत्री जयवर्धन सिंह और कांग्रेस नेता जीतू पटवारी गद्दार शब्द का इस्तेमाल कर चुके हैं. रायसेन जिले के दीवानगंज में सभा को संबोधित करते हुए जयवर्धन सिंह ने कहा कि बिकाऊ नहीं टिकाऊ सरकार चाहिए. जिन गद्दारों के कारण 15 साल बाद सत्ता में वापस आई कांग्रेस सरकार को जाना पड़ा, उन गद्दारों को सबक सिखाना है. आपको अपने वोट की कीमत को बताना है. 

बहरहाल, ज्योतिरादित्य सिंधिया ने एक न्यूज एजेंसी के साथ इंटरव्यू में विश्वास जताया कि बीजेपी को बहुमत के साथ जीत मिलेगी. सिंधिया ने कहा कि बीजेपी को 28 में से 27 सीटों पर जीत मिलेगी जिसके लिए तीन नवंबर को मतदान होने वाले हैं. ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि जिन 28 विधानसभा सीटों पर चुनाव हो रहे हैं उनमें से 27 कांग्रेस की सीटें थीं, इसलिए बीजेपी के पास हासिल करने के लिए सब कुछ है, जबकि कांग्रेस के पास खोने के लिए सब कुछ है.

असल में, मध्य प्रदेश में कांग्रेस के 22 बागी विधायकों ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया था जिससे 15 महीने पुरानी कमलनाथ सरकार गिर गई थी. बाद में तीन और विधायकों ने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया और बीजेपी में शामिल हो गए. वहीं तीन विधायकों के निधन से तीन सीटें खाली हुई थीं जिसके बाद 28 विधानसभा सीटों पर उप चुनाव करायें जा रहे हैं.