breaking news New

भाजपा महिला मोर्चा ने मुख्यमंत्री कन्या विवाह एवं रेडी टू ईट में भ्रष्टाचार के खिलाफ खोला मोर्चा

भाजपा महिला मोर्चा ने मुख्यमंत्री कन्या विवाह एवं रेडी टू ईट में भ्रष्टाचार के खिलाफ खोला मोर्चा


 महासमुंद में भ्रष्टाचार उजागर करने वाले अधिकारी की सुरक्षा मामले की जांच हेतु कलेक्टर को सौंपा राज्यपाल के नाम ज्ञापन

 सक्ती, 18 मई। पिछले दो ढाई वर्ष के कांग्रेस के कार्यकाल में ही छत्तीसगढ़ में भ्रष्टाचार के रोज नए आयाम स्थापित हो रहे हैं पर्याप्त साक्ष्यों के आधार पर भी आवाज उठाने पर उत्पीड़न किया जा रहा है नया मामला प्रदेश के महासमुंद का है जहां महिला एवं बाल विकास विभाग में मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के लिए उपहार सामग्री की खरीद और और वहीं मई माह के लिए वितरित ready-to-eat सामग्री खरीद में अनियमितता को लेकर महिला बाल विकास अधिकारी सुधाकर बोधले को धरना और अनशन पर बैठना पड़ा।

 लेवल इन 2 मामलों में ही 30लाख से अधिक के भ्रष्टाचार का मामला प्रकाश में आया है ऐसे में अगर पूरे दो ढाई वर्ष में प्रदेश के सभी जिलों में हुई खरीदी की जांच की जाए तो सैकड़ों करोड़ के घोटाले की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता है । यह अति गंभीर स्थिति है धोखा दिया है कि भ्रष्टाचार की शिकायत पर ध्यान देने के बदले कांग्रेसी सरकार उच्च अधिकारी को ही प्रताड़ित कर रही है घर पर अनशन कर रहे अधिकारी को पुलिस द्वारा जबरिया उठाकर ले जाया गया फिर गिरफ्तार भी कर लिया गया इससे संबंधित जांच पहले ही हो चुकी थी लेकिन अब फिर से विभागीय जांच का नाटक किया जा रहा है।

मामले में यह स्पष्ट किया जा रहा है कि अधिकारी का मुंह बंद कर शासन अपने ही एक मंत्री को बचाने की कोशिश कर रहा है बोदले के खिलाफ बदले की कार्यवाही की भी आशंका है इसी तारतम्य में जांजगीर-चाम्पा भाजपा महिला मोर्चा ने कलेक्टर को राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपा एवं इस भ्रष्टाचार मामले की उच्च न्यायालय से जांच कराने की मांग की गई एवं इससे संबंधित मंत्री को बर्खास्त करने की मांग की इस अवसर पर भाजपा जिलाध्यक्ष कृष्णकांत चंद्रा, महिला मोर्चा जिला अध्यक्ष रजनी सत्तू साहू, महामंत्री मोहन कुमारी  जिला मंत्रीअस्मिता मिश्रा, कोषाध्यक्ष उमा सोनी  उपस्थित रही..