breaking news New

छत्तीसगढ़ के समस्त मछुआरा समाज को अनुसूचित जनजाति में शामिल करने हेतु सौंपा गया मांग पत्र

छत्तीसगढ़ के समस्त मछुआरा समाज को अनुसूचित जनजाति में शामिल करने हेतु सौंपा गया मांग पत्र

बृजमोहन अग्रवाल पूर्व मंत्री मछली पालन छत्तीसगढ़ शासन को रामकृष्ण धीवर राष्ट्रीय संचालक सदस्य फीशकोफेड, नई दिल्ली, भारत सरकार के नेतृत्व में विभिन्न विषयों को लेकर मांग पत्र सौंपा गया जिनमें प्रमुख रूप से वर्षों से लंबित छत्तीसगढ़ के समस्त मछुआरों समाज को अनुसूचित जनजाति का दर्जा देना छत्तीसगढ़ के परंपरागत मछुआरों को छत्तीसगढ़ सरकार में चल रहे विभिन्न योजनाओं में उनका अधिकार दिलाना प्रधानमंत्री जीवन ज्योति ₹330 की तरह मछुआरों का निशुल्क बीमा कराया जाना ग्राम देमार  धमतरी जिला स्थित एशिया का सबसे बड़ा है हैचरी में मत्सयिकी कॉलेज का निर्माण कर जिसमें परंपरागत मछुआरों को अधिक से अधिक सीट में आरक्षण दिलाना भारत सरकार द्वारा मछली पालन को कृषि क दर्जा दिया गया है ठीक उसी प्रकार छत्तीसगढ़ में भी मछुआरों को कृषि का दर्जा का लाभ दिलाना उक्त मांग पत्र अपने छत्तीसगढ़ महासंघ के अध्यक्ष रामकृष्ण धीवर, उपाध्यक्ष प्रकाश धीवर,डायरेक्टर कृष्ण चंपालाल हिरवानी, फूलचंद धीवर,मोहन राज उपस्थित थे !