breaking news New

जागरूकता ही कोरोना का इलाज.... सर्दी, बुखार जैसे मामूली लक्षण होने पर तत्काल कराएं जांच

जागरूकता ही कोरोना का इलाज.... सर्दी, बुखार जैसे मामूली लक्षण होने पर तत्काल कराएं जांच


विशेष चर्चा में जिला कलेक्टर डॉ सर्वेश्वर नरेन्द्र भुरे ने कोरोना से बचाव पर रखी अपनी बात

भिलाई, 13 नवम्बर। कोरोना संक्रमण विश्वव्यापी महामारी बन चुका है। इस संकट के दौर में लोगों को सावधानी बरतना जरूरी है। यह सही है कि देश में इन दिनों संक्रमण के मामले घटे हैं लेकिन अभी संक्रमण खत्म नहीं हुआ है। यह कहना है कि कलेक्टर डॉ सर्वेश्वर नरेन्द्र भुरे का। हमारे विशेष संवाददाता से चर्चा के दौरान कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर उन्होंने कई बातें साझा की। कलेक्टर भुरे ने कहा कि सर्दी, बुखार जैसे सामान्य लक्षण होने पर इसे हल्के में न लें और तत्काल डॉक्टर की सलाह लें और कोरोना की जांच कराएं।

कलेक्टर भुरे ने कहा कि कोरोना संक्रमण जिले में कोरोना के केस में कमी जरूर आई है लेकिन अभी खतरा टला नहीं है। दीपावली व छठ पर्व को देखते हुए इन दिनों बाजारों में भीड़ है। देखने में आया है कि इस दौरान लोग न सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे हैं और न ही मास्क का उपयोग कर रहे हैं। लोगों की यह लापरवाही काफी भारी पड़ सकती है। कलेक्टर भुरे ने कहा कि जिला प्रशासन लगातार लोगों को जागरुक करने का प्रयास कर रहा है त्योहारी सीजन के कारण प्रशासन ने लोगों की सुविधा को देखते हुए बाजारों का समय बढ़ाया इसके बाद भी जागरुकता में कमी देखी जा रही है। 

अभी मास्क व फिजिकल डिस्टेंस बेहद जरूरी

कलेक्टर भुरे ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचने का अभी केवल एक ही साधन है और वह मास्क व फिजिकल डिस्टेंस है। देश में हमारे वैज्ञानिक इस घातक वायरस के लिए वैक्सीन बना रहे हैं और जब तक इसकी वैक्सीन नहीं आ जाती हमें सावधानी पूर्वक रहना है। कलेक्टर भुरे ने चर्चा के दौरान लोगों से विशेष आग्रह करते हुए कहा है कि घर से निकले तो मास्क लगाकर ही निकले। जरूरी हो तो बाजार में अकेले जाएं और भीड़भाड़ के संपर्क से खुद भी दूर रहें और दूसरों को भी दूरी बनाए रखने की अपील करें। याद रखें कोरोना से बचना है तो जागरुकता बेहद जरूरी है।