breaking news New

Breaking श्मशान घाट कांड के मुख्य आरोपी ठेकेदार अजय त्यागी गिरफतार, तीन अधिकारी भी कल गिरफतार हुए थे, 50 लाख से उपर के ठेकों की जांच के आदेश

Breaking श्मशान घाट कांड के मुख्य आरोपी ठेकेदार अजय त्यागी गिरफतार, तीन अधिकारी भी कल गिरफतार हुए थे, 50 लाख से उपर के ठेकों की जांच के आदेश

गाजियाबाद. श्मशान घाट कांड के सबसे बड़े गुनहगार को गिरफ्तार कर लिया गया है. आरोपी ठेकेदार अजय त्यागी पर 25 हजार का इनाम रखने के कुछ ही घंटों में उसे पकड़ लिया गया है. इस मामले में सीएम योगी ने अधिकारियों की ना सिर्फ क्लास लगाई थी, बल्कि चेतावनी तक दे डाली है कि ऐसे लापरवाह अफसरों पर कड़ी कार्रवाई की जाए. इतना ही नहीं, अब सीएम ने 50 लाख से ज्यादा की लागत के बने हर निर्माण कार्य की जांच के आदेश दिए हैं और कहा है कि लापरवाह अफसरों के लिए कोई जगह नहीं है .

इसके बाद पुलिस ने कड़ी कार्यवाही करते हुए मुरादनगर नगरपालिका की कार्यकारी अधिकारी निहारिका सिंह, कनिष्ठ अभियंता चंद्र पाल और सुपरवाइजर आशीष को सोमवार सुबह गिरफ्तार किया गया क्योंकि वे रविवार को ढह गयी इमारत के निर्माण के लिए निविदा प्रक्रिया में शामिल थे। राजा ने बताया कि पुलिस की टीम ठेकेदार अजय त्यागी को गिरफ्तार करने के लिए उसके संभावित ठिकानों पर छापे मार रही है।

हालांकि हादसे में मारे गए लोगों के परिजन ने अधिक मुआवजे की मांग को लेकर सड़क पर दो शव रखकर दिल्ली-मेरठ राजमार्ग जाम कर दिया। इस हादसे में 24 लोगों की मौत हो चुकी है। पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) इराज राजा ने बताया कि अधिकारियों ने 10 लाख रुपए का मुआवजा और प्रत्येक पीड़ित के परिवार को सरकारी नौकरी देने की सहमति दी। इसके बाद लोगों ने अपना प्रदर्शन समाप्त किया और शवों का अंतिम संस्कार करने के लिए तैयार हो गए।

मुरादनगर में रविवार को एक श्मशान घाट की छत ढह जाने से 24 लोगों की मौत हो गई थी और 17 अन्य व्यक्ति घायल हो गये थे। पीड़ितों में से अधिकतर लोग एक व्यक्ति के अंतिम संस्कार के लिए श्मशान घाट आए थे। अधिकारियों ने बताया कि श्मशान घाट में जिस गलियारे की छत ढही है, उसका निर्माण कार्य दो महीने पहले शुरू हुआ था। इस गलियारे को बनाने में करीब 55 करोड़ रुपये की लागत आने का अनुमान है। इसे 15 दिन पहले ही आम लोगों के लिए खोला गया था।