जैजैपुर के शासकीय प्राथमिक शाला का मामला, बच्चों के चावल-दाल वितरण में हेराफेरी

जैजैपुर के शासकीय प्राथमिक शाला का मामला,  बच्चों के चावल-दाल वितरण में हेराफेरी


  • ग्रामीणों ने की शिकायतकर्ता प्रधान पाठक को निलंबित करने की मांग
  • सुखा राशन वितरण में प्रधान पाठक का हेराफेरी

जांजगीर चांपा, 12 अप्रैल। जिला के विकासखंड जैजैपुर के अंतर्गत स्कूली बच्चों के चावल दाल वितरण में प्रभारी प्रधान पाठक ने पगडंडी मारा है । उसके बावजूद  शिकायतकर्ता भी स्वयं बना है ।

     गौरतलब है कि विकासखंड जैजैपुर के अंतर्गत शासकीय प्राथमिक शाला राजीव ग्राम किकिरदा के प्रभारी प्रधान पाठक  अगस्त कुमार आदित्य सहायक शिक्षक ( एल. बी.  ) ने मध्यान्ह भोजन योजना अंतर्गत मिलने वाले बच्चों के चावल दाल वितरण में पगडंडी मारा है । इसके बावजूद भी मध्यान्ह भोजन योजना अंतर्गत मध्यान भोजन बनाने वाली लक्ष्मी महिला स्व सहायता समूह के खिलाफ विकासखंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय जैजैपुर को स्वयं शिकायत भी किया है। शिकायतकर्ता प्रधान पाठक अगस्त कुमार आदित्य ने महिला स्व सहायता समूह के खिलाफ शिकायत करके अपना पल्ला झाड़ लिया है । लेकिन शासकीय प्राथमिक शाला राजीव ग्राम  किकिरदा के प्रभारी प्रधान पाठक अगस्त कुमार आदित्य के मार्गदर्शन में ही महिला स्व सहायता समूह ने चावल एवं दाल का वितरण किए हैं । इस संबंध में जय मां लक्ष्मी महिला स्व सहायता समूह के सदस्यों ने बताया कि बड़े गुरुजी अर्थात अगस्त कुमार आदित्य के मार्गदर्शन एवं उनके सामने में दाल एवं चावल का वितरण किया गया है । 

      बहरहाल कारण चाहे जो भी हो शासकीय प्राथमिक शाला राजीव ग्राम किकिरदा के प्रभारी प्रधान पाठक ने मध्यान्ह भोजन योजना के अंतर्गत सुखा चावल एवं दाल वितरण में पगडंडी मारकर हेरा फेरी किए हैं । यहां पर अब देखना बाकी रह गया है कि शिक्षा विभाग के अधिकारियों के द्वारा कार्रवाई किया जाता है या अभयदान दिया जाएगा ।

महिला कमांडो के साथ प्रधान पाठक का मिलीभगत

शासकीय प्राथमिक शाला राजीव ग्राम किकिरदा के प्रभारी प्रधान पाठक अगस्त कुमार आदित्य ने मध्यान्ह भोजन योजना के अंतर्गत बच्चों के चावल दाल वितरण में पगडंडी मारा है । उसके बावजूद भी शिकायत करने के लिए महिला कमांडो के सदस्यों को आगे लाया है । ताकि आगे चलकर के प्रधान पाठक अगस्त कुमार आदित्य का नाम एवं शासकीय प्राथमिक शाला राजीव ग्राम किकिरदा के सहायक शिक्षिका एवं पत्नी श्रीमती कुंती आदित्य के नाम कभी भी ग्रामीणों के समक्ष में न आ जाए । नाम ना छापने की शर्त पर दो (2) ग्रामीणों ने बताया कि वहां पर महिला कमांडो के सरोजिनी आदित्य के द्वारा बार-बार चेतावनी दी जा रही थी कि - कुंती दीदी (शिक्षिका) और अगस्त जीजा जी( प्रभारी प्रधान पाठक) का नाम किसी को नहीं बताना है । लेकिन आरोपित प्रधान पाठक को शिक्षा विभाग के अधिकारियों के द्वारा आज पर्यंत निलंबित नहीं किया जाना ग्रामीणों के समझ से परे हैं । यह ग्रामवासियों में चर्चा का विषय बना हुआ है ।

नोटिस जारी किए हैं

 प्रधान पाठक को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है । जवाब हार्डकॉपी में मिलने के बाद उच्च अधिकारियों के मार्गदर्शन में कड़ी कार्रवाई की जाएगी ।