breaking news New

बड़ी खबर : अस्पताल में भर्ती के लिए कोरोना टेस्ट रिपोर्ट की अब जरूरत नहीं..सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर, 'कोरोना से हुई मौतों के लिए सरकार जिम्मेदार हों..मुआवजा भी दें'

बड़ी खबर : अस्पताल में भर्ती के लिए कोरोना टेस्ट रिपोर्ट की अब जरूरत नहीं..सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर, 'कोरोना से हुई मौतों के लिए सरकार जिम्मेदार हों..मुआवजा भी दें'

जनधारा समाचार
नईदिल्ली.  कोविड केयर अस्पतालों में मरीज को भर्ती कराने के लिए कोरोना टेस्ट रिपोर्ट की अब जरूरत नहीं है. सरकार ने नये निर्देश जारी कर दिये हैं. लक्षणों के आधार पर लोग हो सकेंगे भर्ती। सरकार ने लिया बड़ा फैसला।


इसके पहले तक अस्तपाल में भर्ती करने के पहले कोरोना टेस्ट रिपोर्ट मांगी जाती थी. इससे मरीज अनावश्यक परेशान होता था और कभी  कभी तो सामान्य मरीज भी गंभीर स्थिति में पहुंच जाता था इसलिए सरकार ने यह नियम बदला है.

दूसरी ओर एक याचिका में कहा गया है कि जिन लोगों की भी मौत ऑक्सीजन, दवाई या इलाज की सुविधा में कमी के चलते हुई है, उसके लिए सीधे-सीधे केंद्र और राज्य सरकारों को जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए. सुप्रीम कोर्ट उन्हें इस तरह से मरने वाले लोगों के परिवार को मुआवजा देने के लिए कहे.

सामाजिक कार्यकर्ता दीपक राज सिंह की तरफ से दाखिल याचिका में कहा गया है कि जिन लोगों की भी मौत ऑक्सीजन, दवाई या इलाज की सुविधा में कमी के चलते हुई है, उसके लिए सीधे-सीधे केंद्र और राज्य सरकारों को जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए. सुप्रीम कोर्ट उन्हें इस तरह से मरने वाले लोगों के परिवार को मुआवजा देने के लिए कहे. सुप्रीम कोर्ट राज्यों से इस बारे में रिपोर्ट ले कि कोरोना की दूसरी लहर के फैलने में किन अधिकारियों की लापरवाही जिम्मेदार है. ऐसे अधिकारियों पर कार्रवाई की जाए. साथ ही, जो लोग कुंभ मेला या पांच राज्यों में हुए चुनाव के चलते कोरोना संक्रमित हुए हैं, सरकार उन्हें भी आर्थिक मदद और इलाज की सुविधा दे.