breaking news New

टीकाकरण को लेकर ग्रामीणो में भ्रांतिया व भ्रम को तत्काल दुर करने की जरूरत : सुकमा कलेक्टर

टीकाकरण को लेकर ग्रामीणो में  भ्रांतिया व भ्रम को तत्काल दुर करने की जरूरत : सुकमा कलेक्टर

सुकमा -जिलेवासियों का शत प्रतिशत कोविड टीकाकरण पूर्ण करने के उद्देश्य से घर घर जाकर शेष लोगों का टीकाकरण किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा बताया गया कि जिले में 96 प्रतिशत लोगों को कोविड का प्रथम डोज लगाया जा चुका है। प्रथम डोज के टीके के लिए शेष पात्र हितग्राहियों को जल्द टीकाकरण करावाने हेतु कलेेक्टर  विनीत नन्दनवार ने संबंधित नोडल अधिकारियों को निर्देशित किया है।

आज समय सीमा की बैठक में कोविड टीकाकरण की नोडल वार समीक्षा के दौरान कलेक्टर  विनीत नन्दनवार ने द्वितीय डोज टीकाकरण के असंतोषजनक प्रगति पर नाराजगी जाहिर की। उन्होंने कहा कि जिन गांवों मेें ग्रामीणों द्वारा टीकाकरण कार्य में असहयोग या विरोध जताया जा रहा है, वहाँ लोगों के बीच फैली अफवाहों, भ्रांतियों को दूर करें जिससे ग्रामीण जन टीकाकरण के लिए प्रोत्साहित हों।

इसके साथ ही उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को संवेदनशीलता के साथ काम करने को कहा और जिले में एम्बुलेंस सेवा दुरुस्त करने के निर्देश दिए। हाट बाजार क्लिीनिक में आने वाले मरीजों की संख्या, चिकित्सा केन्द्रों में आईपीडी एवं ओपीडी मरीज संख्या से अवगत हुए। उन्होंने गर्भवती महिलाओं की प्रतिमाह मलेरिया टेस्ट कराने के निर्देश दिए है। 

बैठक में कलेक्टर ने किसान क्रेडिट कार्ड निर्माण के संबंध में जानकारी प्राप्त करते हुए हितग्राहियों से आवेदन प्राप्त कर त्वरित कार्यवाही करने के लिए निर्देशित किया है। उन्होंने कोदो-कुटकी खरीदी, मत्स्य बीज वितरण, पशुपालन व मछलीपालन विभाग अंतर्गत जारी होने वाली केसीसी की जानकारी ली। नवीन कृषि विज्ञान केन्द्र परिसर अंतर्गत मिट्टी प्रशिक्षण प्रयोगशाला निर्माण कार्य शीघ्र प्रारंभ करने के निर्देश दिए हैं।

उन्होंने पैरा संग्रहण, ग्रामीण नल-जल योजना, जल जीवन मिशन, शासकीय संस्थानों में रनिंग टैप वाटर कनेक्शन कार्यों की प्रगति की समीक्षा कर कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए।

कलेक्टर ने लंबित पेंशन प्रकरणों का त्वरित निराकरण करने के निर्देश दिए। कोण्डासांवली में राशन भण्डारण की जानकारी प्राप्त की और आवश्यक दिशा निर्देश दिए। स्कूली छात्रों को वितरित किए जा रहे व नए बनाए जा रहे जाति प्रमाण पत्रों के संबंध में जानकारी प्राप्त की। छिन्दगढ़, दोरनापाल, कोण्टा और जिला अस्पताल सुकमा में संचालित मुख्यमंत्री सुपोषण केन्द्रों की जानकारी ली।