breaking news New

जिले के विभिन्न ग्राम पंचायतों में महिला स्व सहायता समूह बना रहे हैं आकर्षक राखियां

जिले के विभिन्न ग्राम पंचायतों में महिला स्व सहायता समूह बना रहे हैं आकर्षक राखियां


बैकुण्ठपुर .कोरिया जिले में भाई बहन के प्रेम का परंपरागत त्यौहार रक्षाबंधन बड़े ही उल्लास से मनाया जाता है। यह अवसर जिले के स्थानीय हाट-बाजारों में हजारों रूपए के व्यवसाय का एक जरिया भी है। इस अवसर पर बिहान से जुड़ी बहुत सी महिलाएं समूहों में एकत्र होकर बड़े पैमाने पर राखियों के निर्माण कार्य में जुटी हुई हैं। कोरिया जिले के ग्राम पंचायत क्षेत्रों में महिलाओं के दर्जन भर से ज्यादा स्व सहायता समूह इन दिनों आकर्षक राखी बनाने में व्यस्त हैं। बहुत बड़ी मात्रा में बनाई जा रही इन देषी राखियों से स्थानीय हाट-बाजारों में पर्याप्त मात्रा में राखी उपलब्ध कराई जाएगी ताकि जिले के आम नागरिकों को देषी उत्पाद कम कीमत में मिल सकें और गांवों की महिलाओं को इसका आर्थिक लाभ प्राप्त हो सके। इस संबंध में जानकारी देते हुए जिला पंचायत के मुख्यकार्यपालन अधिकारी श्री कुणाल दुदावत ने बतााया कि कलेक्टर कोरिया श्री ष्याम धावड़े के निर्देषानुसार राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिषन बिहान से जुड़ी हुई महिलाओं के स्वरोजगार से आजीविका संवर्धन का कार्य निरंतर प्रगतिरत है। इसी कड़ी में आगामी रक्षाबंधन त्यौहार के मद्देनजर महिला समूहों के द्वारा बड़ी मात्रा में देषी राखियों का निर्माण किया जा रहा है। इन सभी आकर्षक राखी उत्पादों को स्थानीय हाट बाजारों में बिहान की मैदानी टीम के माध्यम से महिलाओं के समूहों के द्वारा सीधे ग्राहकों को उपलब्ध कराया जाएगा।

        जिला पंचायत सीइओ ने बताया कि जिले के विभिन्न ग्राम पंचायतों में महिला समूहों के द्वारा बनाई जा रही राखियों को बेहतर बाजार उपलब्ध कराने के लिए बिहान से जुड़े मैदानी अमले को प्रबंधन का दायित्व दिया गया है। महिलाएं अपने केनोपी के माध्यम से जनपद पंचायत के मुख्यालयों में सीधे अपने उत्पाद बेच सकेंगी इसके साथ ही जिला मुख्यालय में भी स्व सहायता समूह की महिलाओं को बाजार में स्थान उपलब्ध कराया जाएगा। मुख्यालयों के अतिरिक्त स्थानीय स्तर पर लगने वाले हाट-बाजारों में महिलाओं के द्वारा नियमित रूप से त्यौहार आने तक केनोपी लगाकर राखियों का विक्रय किया जाएगा। इससे आम नागरिकों को कम कीमत पर स्थानीय उत्पाद आसानी से प्राप्त हो सकेंगे और स्व सहायता समूहों को व्यवसाय भी प्राप्त होगा। बैकुण्ठपुर जनपद पंचायत के अंतर्गत ग्राम पंचायत नरकेली में महिलाओं के ज्योति स्व सहायता समूह, प्रगति स्व सहायता समूह और तुलसी स्व सहायता समूह की महिलाओं के द्वारा राखी निर्माण किया जा रहा है। सोनहत विकासखण्ड के ग्राम पंचायत भैंसवार में महिलाओं के दुर्गा स्व सहायता समूह द्वारा रक्षाबंधन पर्व पर विषेष रूप से आकर्षक राखियों का निर्माण किया जा रहा है। इसी तरह भरतपुर वनांचल में कार्यरत कोरिया महिला गृह उद्योग से जुड़ी महिलाओं द्वारा राखियों का निर्माण व्यापक पैमाने पर किया जा रहा है। इसके अलावा भरतपुर क्षेत्र के ग्रामीण इलाकों में कार्यरत सुविधा महिला स्व सहायता समूह, षिवम महिला स्व सहायता समूह के साथ प्रेरणा महिला स्व सहायता समूह, महामाया और ताजुल बड़ा समूह से जुड़ी लगभग 60 महिलाओं के द्वारा राखियों का निर्माण किया जा रहा है। आम नागरिक इन समूह की महिलाओं के द्वारा निर्मित राखी खरीदकर उनके व्यवसाय को प्रोत्साहित कर सकते हैं।