breaking news New

धान तौलने की गड़बड़ी उजागर : इलेक्ट्रॉनिक कांटा के उपयोग की उठी मांग, कलेक्टर को ज्ञापन सौपेंगे किसान नेता

धान तौलने की गड़बड़ी उजागर : इलेक्ट्रॉनिक कांटा के उपयोग की उठी मांग, कलेक्टर को ज्ञापन सौपेंगे किसान नेता

 बेमेतरा।   सरकारी धान खरीदी केंद्रों में इलेक्ट्रॉनिक कांटा के उपयोग को अनिवार्य करने की मांग जोर पकड़ने लगी है । इस सम्बंध में किसान नेता योगेश तिवारी ने पहल करते हुए, बेमेतरा कलेक्टर के जरिए राज्य के सम्बंधित उच्च अधिकारियों को ज्ञापन भेजने की बात कही है । जिसमें समयसीमा में कार्रवाई की मांग की जाएगी । उल्लेखनीय है कि बीते दिनों किसान नेता योगेश तिवारी ने सरकारी खरीदी केंद्र में धान को ओवर वेट तौलने की गड़बड़ी को पकड़ा था ।

तय मात्रा के अनुसार प्रति कट्टा में 40 किलो धान की तौल की जाती है । लेकिन किसान नेता के निरीक्षण के दौरान कई खरीदी केंद्रों में ओवरवेट धान तौलने की शिकायत सही मिली । जहां जांच में 3 से 4 किलो धान अतिरिक्त मिला ।

वर्तमान में सभी खरीदी केंद्रों में मैनुअल कांटा का उपयोग किया जा रहा है । जिसमे तौल के दौरान बड़े पैमाने पर गड़बड़ी कर किसानों को लूटा जा रहा है । मामला जिला प्रशासन के संज्ञान में होने के बावजूद, जिम्मेदारों की चुप्पी पर सवाल खड़े हो रहे हैं । इस सम्बंध में किसान नेता योगेश तिवारी ने बताया कि वे बेमेतरा विधानसभा के धान खरीदी केंद्रों का लगातार निरीक्षण कर रहे हैं । इन खरीदी केंद्रों में बड़े पैमाने पर गड़बड़ी की जा रही है ।

एक ओर जहां किसानों से शत प्रतिशत बारदाना मंगाया जा रहा है, वही दूसरी ओर इंतजार के बाद किसान के धान बेचने की बारी आने पर, मौजूद कर्मियों द्वारा तय मात्रा से धान अतिरिक्त तौलकर किसानों को लूटा जा रहा है । सारी गड़बड़ी समिति प्रबंधन की जानकारी में है, बावजूद कोई कार्रवाई नही हो रही है ।

लूट के इस खेल में सभी शामिल हैं । इसलिए धान खरीदी केंद्रों में इलेक्ट्रॉनिक कांटा के उपयोग को अनिवार्य करने के लिए मुख्य सचिव छग शासन, सहकारिता विभाग प्रमुख, नाप तौल विभाग के राज्य प्रमुख के नाम से बेमेतरा कलेक्टर को ज्ञापन सौपा जाएगा । खरीदी केंद्रों में इलेक्ट्रॉनिक कांटा का उपयोग अनिवार्य करने के सम्बंध में सप्ताह भर के भीतर कार्रवाई नही होने की स्थिति में न्यायालय में जनहित याचिका दायर की जाएगी ।