breaking news New

कोरोना खुलासे को लेकर महिला पत्रकार झांग को चीन दे सकता है कड़ी सजा

कोरोना खुलासे को लेकर महिला पत्रकार झांग को चीन दे सकता है कड़ी सजा

नई दिल्ली। चीन के  वुहान से पूरी दुनिया में फैले कोरोना वायरस के सच को ड्रेगन   हमेशा से छुपाता रहा है।  इसका खुलासा चीन के कई डॉक्टर्स और पत्रकार भी कर चुके हैं।  जिनके साथ चीन की  सरकार ने बहुत बुरा बर्ताव किया है।  इस बीच चीन की एक पूर्व वकील और महिला पत्रकार झांग को वहां की लोकल पुलिस ने मई में गिरफ्तार कर लिया था, अब पुलिस उन्हें लंबे समय के लिए जेल भेजनी की तैयारी कर रही है। 

 मालूम हो कि कोविड-19 ने दुनिया के लगभग हर देश को अपनी चपेट में ले लिया है और अब तक लाखों लोगों की जानें जा चुकी हैं. महिला पत्रकार ने जब कोविड-19 पर रिपोर्टिंग की तो उनपर वुहान में गलत सूचनाएं फैलाने के आरोप लगाए गए. सूत्रों के मुताबिक, झांग को इन आरोपों के चलते कड़ी से कड़ी सजा मिल सकती है।  

 झांग से पहले भी चीन के तीन पत्रकारों को गिरफ्तार किया गया था. ये सभी कोरोना वायरस को लेकर रिपोर्टिंग कर रहे थे. क्योंकि इन तीनों पत्रकारों ने महामारी के दौरान देश की स्थिति को सोशल मीडिया के जरिए लाइव-स्ट्रीम किया था और सरकार की मंशा पर सवाल खड़े किए थे. इन पत्रकारों के नाम ली जेहुआ, चेन कियूशी और फैंग बिन हैं. 

झांग 15 मई को वुहान की यात्रा के बाद गिरफ्तार की गई थीं, जहां से कोविड-19 के संक्रमण की शुरुआत हुई थी. पुलिस का आरोप है कि पत्रकार ने सोशल मीडिया के जरिए वुहान की स्थिति की लाइव-स्ट्रीमिंग करते समय चीन सरकार की आलोचना की थी.