breaking news New

खेलो इण्डिया : खिलाड़ियों को मिलेगा निःशुल्क आवासीय प्रशिक्षण

 खेलो इण्डिया : खिलाड़ियों को मिलेगा निःशुल्क आवासीय प्रशिक्षण

9 से 17 वर्ष आयु वर्ग के बालक-बालिकाएं कर सकते हैं पंजीयन

जिला स्तरीय सलेक्शन ट्रायल 15 से 17 फरवरी तक

रायपुर, 5 फरवरी। राज्य के ऐसे बालक-बालिका खिलाड़ी जिनकी आयु 17 वर्ष से कम है तथा जो बिलासपुर या रायपुर की खेल अकादमी में प्रवेश लेने के इच्छुक हैं, वे अपना पंजीयन अपने जिले के खेल एवं युवा कल्याण विभाग के जिला कार्यालय में 12 फरवरी 2021 तक करा सकते हैं। पंजीयन के लिए आवेदक का नाम, पिता का नाम, जन्म तिथि, पूर्ण पता, मोबाईल नम्बर, खेल का नाम, अपने अभिभावक के सहमति पत्र प्रस्तुत करना होगा ।

  खेल एवं युवा कल्याण विभाग के अनुसार अनुसार आगामी वित्तीय वर्ष से रायपुर एवं बिलासपुर में भारत सरकार की खेलो इण्डिया योजनान्तर्गत “खेलो इण्डिया सेन्टर ऑफ एक्सिलेंस” प्रारंभ किया जा रहा है। यह सेन्टर एक आवासीय खेल अकादमी होगी जिसमें हॉकी, एथलेटिक्स एवं तीरंदाजी के बालक बालिकाओं को खेल का निःशुल्क प्रशिक्षण दिया जाएगा। बिलासपुर के साथ-साथ रायपुर में भी खेल विभाग द्वारा राज्य स्तरीय खेल अकादमी प्रारंभ की जा रही है। जिसमें हॉकी, एथलेटिक्स एवं तीरंदाजी खेल का प्रशिक्षण प्रदान किया जायेगा। रायपुर एवं बिलासपुर की खेल अकादमी में जिन बालक बालिकाओं को प्रवेश मिलेगा, उन्हें आवास, भोजन, शैक्षणिक व्यय, खेल परिधान, दुर्घटना बीमा, खेल प्रशिक्षण की सुविधाएं, खेल विभाग द्वारा निःशुल्क उपलब्ध करायी जायेगी। रायपुर एवं बिलासपुर की अकादमी में प्रवेश हेतु 09 से 17 वर्ष तक के बालक-बालिकाएं जो हॉकी, एथलेटिक्स, तीरंदाजी में रूचि रखते है तथा बिलासपुर या रायपुर में नियमित रूप से रहकर खेल प्रशिक्षण प्राप्त करना चाहते हैं, वे चयन प्रक्रिया में शामिल हो सकते हैं। जिला स्तरीय सलेक्शन ट्रायल 5 फरवरी से 17 फरवरी तक आयोजित किया जायेगा।

जिला स्तरीय सलेक्शन ट्रायल में चयनित बालक-बालिकाओं को राज्य स्तरीय सलेक्शन ट्रायल में सम्मिलित कराया जायेगा। जिसमें जिले से भाग लेने वाले खिलाड़ियों की अधिकतम संख्या हॉकी में 10 बालक 10 बालिका, एथलेटिक्स में 12 बालक 12 बालिका, तीरंदाजी में 06 बालक 06 बालिका है। राज्य स्तरीय सलेक्शन ट्रायल में भाग लेने हेतु आने-जाने का व्यय खेल विभाग द्वारा वहन किया जायेगा। राज्य स्तरीय सलेक्शन ट्रायल में चयनित बालक-बालिकाओं को पात्रता संबंधी अन्य अर्हताओं को पूर्ण करने की स्थिति में अकादमी में प्रवेश दिया जाएगा तथा उनके लिए निःशुल्क खेल प्रशिक्षण, शिक्षा, आवास एवं भोजन आदि की व्यवस्था भी की जाएगी।