breaking news New

उचित इलाज नहीं मिलने से आदिवासी युवक की हुई मौत की उच्चस्तरीय जांच हो - केदार कश्यप

उचित इलाज नहीं मिलने से आदिवासी युवक की हुई मौत की उच्चस्तरीय जांच हो - केदार कश्यप

अस्पताल नारायणपुर में बरती गई घोर लापरवाही,बिना कोरोना टेस्ट किए जिन्दा युवक को मरा बताकर सौंपा दिया गया
जगदलपुर। भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता एवं पूर्व मंत्री केदार कश्यप ने कहा कि एक आदिवासी युवक की लापरवाही के कारण उचित इलाज नहीं मिलने से हुई मौत पर चिंता जाहिर करते हुए उन्होंने इस मामले की उच्चस्तरीय जांच की मांग की है। उन्होने कहा कि जिला अस्पताल नारायणपुर में बरती गई घोर लापरवाही के चलते एक युवा कमला पात्र 21 वर्षं की असमय मौत हो गई। अस्पताल में उसे मृत बताया और वह घर में जीवित हो गया इसमें लापरवाही साफ प्रतीत होती है।
केदार कश्यप ने कहा कि जीवित युवक को किसी अन्य महिला के ईसीजी रिपोर्ट के आधार पर अस्पताल प्रबंधन ने मृत्यु होना बताकर घर ले जाने मजबूर किया गया। ऐसी घोर लापरवाही से नारायणपुर जिला अस्पताल में अव्यवस्था की पोल खुल गई। उन्होने कहा कि परिजनों के मुताबिक बिना कोरोना टेस्ट किए युवक को मरा हुआ बताकर सौंपा दिया गया। शोकाकुल परिवार जब घर लाए तो सांस चलने के कारण उसे पानी तक पिलाया और वापस अस्पताल ले गए। मृतक का कोरोना जांच भी नहीं किया गया, यदि युवक कोरोना पॉजिटिव होता तो पूरा परिवार संक्रमित हो सकता था, जिससे युवक के साथ-साथ पूरे परिवार पर गंभीर संकट आ जाता। इसके बाद जब युवक की मौत हो गई तो पोस्टमार्टम तक नहीं कराया गया।