breaking news New

कोरोना अघोषित महाजंग : मृत्यूभोज को कोरोना काल में स्थगित किया जावे-आर एन ध्रुव

कोरोना अघोषित महाजंग : मृत्यूभोज को कोरोना काल में स्थगित किया जावे-आर एन ध्रुव

धमतरी . अनुसूचित जनजाति शासकीय सेवक विकास संघ छत्तीसगढ़ के प्रांताध्यक्ष आर एन ध्रुव द्वारा समाज से अपील की गई है कि कोविड-19 कोरोना के विकराल  स्वरूप को देखते हुए नामकरण, विवाह,मृत्यू भोज संस्कार में  किए जाने वाले सामूहिक भोज को स्थगित किया जावे।
उन्होंने कहा कि कोरोना एक मनुष्य से दूसरे मनुष्य में फैलने वाली बीमारी है और हम सभी एक ही पृथ्वी पर रहते है। मानव के लिए इस सृष्टि में पृथ्वी के अलावा कोई और सुरक्षित स्थान नहीं है। अपने मानव समाज की रक्षा करना हर व्यक्ति का कर्तव्य है। कोरोना भयावह स्थिति में हैं। इसे हम आपस में संपर्क चैन तोड़कर समाप्त कर सकते हैं। इसलिए शासन द्वारा जारी लाक डाउन में सहयोग करें। बिना किसी कारण के घर से बाहर ना निकले। अनावश्यक भीड़भाड़ वाले स्थान में ना जाएं। कोरोना के लक्षण नजर आने पर तुरंत नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में जाकर जांच कराएं । साथ ही गांव गांव में वैक्सीन लगवाने हेतु लोगों को जागरूक करें। समय पर वैक्सीन लगने से हम बड़ी मानव क्षति होने से बचा सकते हैं। एक कहावत है की चिड़िया चुग गई खेत - अगर चिड़िया पूरे खेत की फसल को चट कर जाएगी तो उसके बाद मात्र पछतावा ही होगा। परन्तु नुकसान की भरपाई नहीं हो पाएगी। श्री ध्रुव जी ने कहा कि कोरोना एक वैश्विक महामारी है। पूरे विश्व सहित छत्तीसगढ़ में भी यह महामारी बड़ी तेजी से फैल रहा है। इसलिए सभी सामाजिक संस्कार जिसमें सगे संबंधियों की उपस्थिति होती है ।ऐसे कार्यक्रम को संभव हो सके तो कोरोना काल तक टाल के रखें।
 शासन द्वारा कोविड-19 से बचाव हेतु किए जा रहे सुरक्षा उपायों के तहत सभी प्रबुद्ध जन महामारी से बचने हेतु  वेक्सिन अवश्य लगवाए। साथ ही आप सबसे विनम्र निवेदन कि  समय-समय पर साबुन से हाथ धोते रहे।बिना मास्क पहने घर से बाहर न निकले।दो गज की दूरी बनाए रखे।बिना आवश्यक कार्य के घर से बाहर न निकले। घर में रहे सुरक्षित रहे ,स्वस्थ्य रहे। अपने इष्ट मित्र, परिजन यदि कोरोना पॉजिटिव है तो उनका मनोबल बढ़ाते हुए शीघ्र स्वास्थ्य लाभ हेतु हौसला दिलाएं।कोरोना अघोषित महाजंग है इसे हम बड़े ही शांतिपूर्ण ढंग से सब मिलजुल कर हराएंगे।