इटली से भारत पहुंचे 37 छात्रों को छत्तीसगढ़ बॉर्डर पर किया गया क्वारंटीन, प्रदेश में कोरोना पाजेटिव की संख्या 30 के करीब

इटली से भारत पहुंचे  37 छात्रों को छत्तीसगढ़ बॉर्डर पर किया गया क्वारंटीन, प्रदेश में कोरोना पाजेटिव की संख्या 30 के करीब


रायपुर ।  छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमितों  की संख्या 30 के करीब पहुँच गई है। इन सभी संक्रमितों का सबंध निजामुद्दीन तबलीगी जमात मरकज से है।  बिलासपुर में भी मक्का से लौटी महिला कोरोना पाजेटिव पाई गई है।  प्रदेश में अब तक  सबसे ज्यादा 21 मामले कोरबा, रायपुर के पांच, दुर्ग 1, राजनांदगांव 1, बिलासपुर से 2 मरीज मिल चुके हैं।

 प्रदेश के  कटघोरा में मिले चार नए मरीजों का संबंध भी तबलीगी जमात मरकज से हैं।  राज्य में अब  कोरेाना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर 30 पहुंच गई हैं। कटघोरा में  कोरोना पाजेटिव  मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है।

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने नए मरीजों की पुष्टि करते हुए बताया था कि सभी मरीज कोरबा जिले के कटघोरा के हैं। कोरबा के कटघोरा में रहने वाले सात और लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है। ये सभी तब्लीगी जमाती हैं और मस्जिद क्षेत्र के पास के ही रखने वाले है। शनिवार की रात 12.30 बजे एम्स रायपुर से आई रिपोर्ट ने पूरे स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ा दी है। 

कटघोरा में 4 अप्रैल को 16 साल के जमाती में वायरस की पुष्टि के बाद यह अंदेशा लगाया जा रहा था कि यहां मामले और  बढ़ेंगे, क्योंकि यह किशोर सैकड़ों लोगों के संपर्क में आया था। यह महाराष्ट्र के तबलीगी जमात के जत्थे के साथ आया था और इसे ही कोरोना सोर्स बताया जा रहा है। कोरबा में अब तक 21 मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। वहीं दो मरीज ठीक होकर वापस लौट गए है। 

इटली से भारत लौटे छात्र दिल्ली से मध्यप्रदेश होते हुए कवर्धा के चिल्फी बॉर्डर पहुंच गए। 37 छात्रों को एमपी सीजी बॉर्डर चिल्फी में रोका गया। इन्हें चिल्फी में बने क्वारंटीन सेंटर में रखा गया है। 

chandra shekhar