breaking news New

करें योग ...रहें निरोग - इस ध्येय को आत्मसात करें

करें योग ...रहें निरोग - इस ध्येय को आत्मसात करें


सक्ती, 10 जून। करें योग ...रहें निरोग - इस ध्येय को आत्मसात कर अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर सरस्वती शिशु सक्ती  द्वारा योग कक्षा का शुभारंभ किया जा रहा है। इस संबंध में जानकारी देते हुए व्यवस्थापक चितरंजय पटेल ने बताया कि इस महामारी के बीच विद्यालय परिवार के परिजन, मित्र आदि भी किसी न किसी रुप में प्रभावित हुए हैं. साथ ही शासन के आदेशानुसार 16 जून से विद्यालय भी खुल रहा है। तब आचार्य परिवार के शारीरिक व मानसिक सबलता (इम्यूनिटी) के लिए योगासनों की कक्षाएं कारगार साबित होगी जिसके लिए वर्तमान में योग प्रशिक्षण प्राप्त विद्यालय के वरिष्ठ आचार्य चूणामणि साहू को योग कक्षा संचालन की जवाबदारी दी गई है। योग कक्षाओं में आम जन भी वर्चुअल माध्यम से जुडकर लाभ उठा सकते हैं जिसके संबंध में योग दिवस के उद्घाटन अवसर पर कक्षा के समय  व लिंक आदि की जानकारी विस्तार सोसल मीडिया में दी जावेगी। 

इस अवसर पर भागवत प्रवाह आध्यात्मिक सैवा संस्थान के द्वारा पर्यावरण दिवस पर घोषित " प्रकृति-प्रथम कृति" विषय पर आयोजित निबंध प्रतियोगिता का पुरस्कार वितरण भी सरस्वती शिशु मंदिर सभागार में संपन्न होगा जिसकी जानकारी देते हुए आचार्य राजेंद्र शर्मा ने बताया कि निबंध प्रतियोगिता में कोई भी व्यक्ति अधिकतम 300 शब्दों में निबंध स्वलेख में स्वरचित होने की घोषणा के साथ बंद लिफाफे में 15 जून तक कार्यालय- सरस्वती शिशु मंदिर सक्ती में जमा कर सकेंगे जिसका परिणाम विद्वत समिति द्वारा 20 जून को घोषित किया जाकर योग दिवस पर विजेता को पुरस्कृत किया जावेगा।

अधिवक्ता पटेल ने बताया कि पर्यावरण संरक्षण के लिए सरस्वती शिशु मंदिर व भागवत प्रवाह आध्यात्मिक सेवा संस्थान के संयुक्त तत्वावधान में लगातार वृक्षारोपण व जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे हैं जिसमें समाज के सभी वर्गों का भी सहयोग मिल रहा है।