breaking news New

ग्रामीण विधायक की पहल पर 23 पार्षदों ने दिए दो-दो लाख, इधर बिरगांव महापौर ने भी राशि जारी करने की अनुशंषा, जनधारा की खबर का हुआ दोहरा असर

ग्रामीण विधायक की पहल पर 23 पार्षदों ने दिए दो-दो लाख, इधर बिरगांव महापौर ने भी राशि जारी करने की अनुशंषा, जनधारा की खबर का हुआ दोहरा असर

रायपुर : बिरगांव राशन वितरण मामले में जनधारा की खबर का बड़ा असर हुआ हुआ है। खबर प्रकाशित होने के बाद बिरगांव की महापौर अम्बिका यदू ने इलाके के बचे हुए 26 वार्डों के लिए भी राशि जारी करने निगम आयुक्त को पत्र लिखा है। आयुक्त को लिखे गए पत्र में महापौर ने 12 वार्डों के आलावा ऐसे बचे हुए लोग जिन्हें पार्षद निधि से अब तक राशन नहीं मिल पाई है उनकी सूची भी मांगी है ताकि उनको भी निधि से राशन दिया जा सके। इधर खबर प्रकाशित होने के बाद कांग्रेस पार्षद नंदू चंद्राकर ने बिरगांव में विहार के फसे हुए मजदूरों को राशन के थैले बटवाये तो महापौर ने भी सोमवार की शाम को फोन करके मजदूरों की सुध ली और खाने पीने की व्यवस्था करवाने आश्वाशन दिया। 


आरोप प्रत्यारोप के बीच पिस रही जनता 

कांग्रेस पार्षद महापौर पर लगातार आरोप लगा रहे हैं की महापौर ऐसे समय पर भी पार्टी की राजनीती कर रही हैं। बिरगांव निगम की महापौर होने के बवजूद उन्होंने सिर्फ भाजपा पार्षदों के वार्डों के लिए ही फंड जारी करवाया। जबकि महापौर निगम आयुक्त पर उनकी बात नहीं सुनने का आरोप लगा रही है। 


वर्जन 

बिरगांव निगम क्षेत्र के भीतर रहने वाले सभी लोगों का ख्याल रखना मेरी जिम्मदारी है इसलिए मैने इलाके के सभी 40 वार्डों बहार से काम करने आये हुए जितने भी लोग फसे हुए हैं उनके लिए अपने छह माह का मानदेय व भत्ता एक लाख दो हजार रुपये सहायता के तौर पर देने के लिए आयुक्त को पत्र लिखा है। अम्बिका यदू, महापौर बिरगांव 


वर्जन

जैसे ही लॉक डाउन शुरू हुआ वैसे ही हमने बिरगांव के सभी पार्षदों से उनकी निधि से सहायता करने के लिए बात की थी लेकिन उस दौरान भाजपा के पार्षदों ने कोई रूचि नहीं दिखाई, और जब कांग्रेस के सभी 23 पार्षद और एल्डरमेनों ने अपनी निधि से राशन की वयवस्था के लिए दो-दो लाख दिए तो महापौर ने सिर्फ भाजपा के पार्षदों के लिए 24 लाख स्वीकृत कर दिए। अभी तक इलाके में एक भी बार दिखी नहीं, लेकिन जैसे ही खबर चली वैसे ही अपने छह माह का मानदेय दे रही, ये तो बड़े ही गजब की बात है।  सत्यनारायण शर्मा विधायक रायपुर ग्रामीण।