breaking news New

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता का निधन

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता  का निधन

नई दिल्ली।  कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद ऑस्कर फर्नांडिस (Oscar Fernandes) का सोमावार को मंगलुरु में निधन हो गया. वह 80 साल के थे. फर्नांडिस को योग करते समय गिरने के बाद जुलाई में अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उनके सिर में  चोट लगी थी  जिसकी वजह से उनके मस्तिष्क में खून का एक थक्का बन गया था. इसे हटाने के लिए एक सर्जरी की गई थी. इसके बाद उन्हें आईसीयू में भर्ती कराया गया था.

इस दौरान कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सिद्धरमैया और डी के शिवकुमार ने अस्पताल जाकर पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं राज्य सभा सदस्य ऑस्कर फर्नांडीस से मुलाकात की था और उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली थी.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके निधन पर दुख जताया है. उन्होंने कहा है कि ”राज्यसभा सांसद ऑस्कर फर्नांडीस जी के निधन से दुखी हूं. इस दुख की घड़ी में मेरी संवेदनाएं और प्रार्थनाएं उनके परिवार और शुभचिंतकों के साथ हैं. उनकी आत्मा को शांति मिले.”

श्रीनिवास बीवी ने जताया दुख
कांग्रेस नेता श्रीनिवास बीवी ने फर्नांडीस के निधन पर शोक व्यक्त किया है. उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा, ” पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ऑस्कर फर्नांडीस जी के निधन के बारे में सुनकर दुख हुआ. महान ज्ञान और दृढ़ संकल्प के व्यक्ति, वह INC के सबसे दयालु और वफादार सैनिकों में से एक थे. ईश्वर नेक आत्मा को शांति प्रदान करें और परिवार को इस दुख को सहने की शक्ति प्रदान करे.”

वहीं कांग्रेस पार्टी की ओर से भी ट्वीट कर फर्नांडिस के निधन पर शोक जताया गया है. कांग्रेस पार्टी ने लिखा, ” ऑस्कर फर्नांडीस जी के निधन से हमें गहरा दुख हुआ है, उनके परिवार के प्रति हमारी संवेदना है. एक कांग्रेस के दिग्गज, समावेशी भारत के लिए उनके दृष्टिकोण का हमारे समय की राजनीति पर बहुत बड़ा प्रभाव था. कांग्रेस परिवार को उनके मार्गदर्शन  कमी खलेगी.”

फर्नांडिस ने यूपीए सरकार में केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री के रूप में कार्य किया था कांग्रेस नेता राहुल गांधी के करीबी माने जाने वाले फर्नांडीस राजीव गांधी के संसदीय सचिव के रूप में भी काम कर चुके हैं.  वह अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण के अध्यक्ष भी थे.

ऑस्कर फर्नांडीस 1980 में कर्नाटक के उडुपी निर्वाचन क्षेत्र से लोकसभा के लिए चुने गए थे. वह उसी निर्वाचन क्षेत्र से 1984, 1989, 1991 और 1996 में लोकसभा के लिए फिर से चुने गए थे. 1998 में, फर्नांडीस राज्यसभा के लिए चुने गए और वह 2004 में फिर से उच्च सदन के लिए चुने गए.