breaking news New

हाथकरघा संघ के अध्यक्ष मोतीलाल देवांगन, प्रबंध संचालक राजेश राणा के खिलाफ़ राज्य अनुसूचित जाति आयोग में शिकायत

हाथकरघा संघ के अध्यक्ष मोतीलाल देवांगन, प्रबंध संचालक राजेश राणा के खिलाफ़ राज्य अनुसूचित जाति आयोग में शिकायत

ग्रामोद्योग विभाग के संयुक्त संचालक बीपी मनहर ने लगाये कई गंभीर आरोप

चमन प्रकाश केयर

रायपुर, 20 मार्च। हाथकरघा संघ में उठा विवाद और अध्यक्ष मोतीलाल देवांगन की मुश्किलें थमने का नाम नही ले रहा है, कुछ महिने पहले संचालक मंडल के सात सदस्यों ने द्वारा एक साथ पंजीयक हिमशिखर गुप्ता को सामूहिक इस्तीफा देने के बाद अध्यक्ष का अल्पमत में आ गये हैं | इसी बीच ग्रामोद्योग संचनालय हाथकरघा विभाग में पदस्थ संयुक्त संचालक अधिकारी बीपी मनहर ने अध्यक्ष मोतीलाल देवांगन, प्रबंध संचालक राजेश राणा, पीए रामकिशुन देवांगन, अध्यक्ष के बेटे शिल्प राज देवांगन के खिलाफ़ कई गंभीर आरोप छत्तीसगढ़ राज्य अनुसूचित जाति आयोग में कर दिए है |
दरअसल में राज्य हाथकरघा संघ मर्यादित के अध्यक्ष मोतीलाल देवांगन के खिलाफ ग्रामोद्योग विभाग के संयुक्त संचालक अधिकारी बी पी मनहर ने 17 दिसंबर को छत्तीसगढ़ राज्य अनुसूचित जाति आयोग में छवि खराब करने, मानसिक प्रताड़ना, कुटरचित तरीके से शासकीय सेवा से बर्खास्त करने, एवं विभागीय कार्रवाई, झूठा अपराधिक प्रकरण में फंसाने सहित कई गंभीर आरोपों को लेकर आयोग में लिखित शिकायत किए हुए है ,इस पर आयोग संज्ञान लेते हुए ने अध्यक्ष मोतीलाल देवांगन को नोटिस जारी की गई थी।

प्रबंध संचालक राजेश राणा आईएएस, निजी सचिव रामकिशुन पैसों के जरिए धरना प्रदर्शन करवाते है:
संयुक्त संचालक बीपी मनहर ने छह पन्नों के अपने शिकायती पत्र में उल्लेख किया है कि हाथकरघा विकास एवं विपणन सहकारी संघ मर्यादित के प्रबंध संचालक राजेश राणा आईएएस, संचालक मंडल सदस्य विनोद देवांगन, अध्यक्ष मोतीलाल देवांगन के बेटे शिल्प राज देवांगन, गाडा राय देवांगन एवं अध्यक्ष के निजी सचिव रामकिशुन देवांगन एक साथ मिलीभगत कर पैसों के जरिए धरना प्रदर्शन करवाने का काम किये हैं | साथ ही अखबारों, समाचार चैनलों एवं रैलियों में बैनर पोस्टर के जरिये झूठी एवं कूट रचित दस्तावेज तैयार कर छवि खराब करने किये हैं | मनहर ने आरोप लगाते हुए अपने पत्र में जिक्र किया है कि इससे विभाग और राज्य शासन को भ्रामक असत्य जानकारी देने का काम इन लोगों के द्वारा किया गया है |
अध्यक्ष मोतीलाल देवांगन, प्रबंध संचालक राणा, पी ए रामकिशुन देवांगन ने अपराधिक षड्यंत्र कर मुझे हाथकरघा संघ से हटवाया : बीपी मनहर
बीपी मनहर ने शिकायती पत्र में कहा है कि अध्यक्ष मोतीलाल देवांगन पद और हैसियत का दुरुपयोग करते हुए प्रबंध संचालक राजेश राणा आईएएस एवं निजी सचिव रामकिशुन देवांगन के साथ मिलकर योजनाबद्ध तरीके से अपराधिक षड्यंत्र रचकर झूठे मामलों में फंसाते हुए संघ के सचिव पद से हटवाने का काम किया गया है | साथ ही उनकी जगह पर हाथकरघा संचनालय के डिप्टी डायरेक्टर एम एम जोशी को पदस्थापना करवाने की मंशा से ही साजिश रच कर गंभीर अनियमितताएं संबंधित शिकायत किये है।
मुझे हटाने पैसे लेकर बाहरी महिला समूहों ने किया था धरना, प्रदर्शन : बीपी मनहर
बीपी मनहर ने कहा है कि अध्यक्ष के निजी सचिव रामकिशुन देवांगन के निलंबन की कार्यवाही को भी प्रबंध संचालक राजेश राणा ने रोक कर रखे हुए है | इसके अलावा अध्यक्ष और एमडी ने रामकिशुन देवांगन को पैसे देकर समिति की कुछ महिलाओं एवं बाहरी महिला समूह द्वारा धरना प्रदर्शन करवाएं है | उन्होंने कहा है कि आंदोलन के जरिए मेरे खिलाफ अमर्यादित अभद्र टिप्पणी की गई थी साथ ही बाहरी महिलाओं एवं पंजीकृत समिति के कुछ महिलाओं को मेरे विरुद्ध भड़का कर सुनियोजित तरीके से धरना, प्रदर्शन, रैली एवं बैनर पोस्टर के जरिये भ्रष्टाचारी, कमीशनखोरी एवं झूठे आरोप लगाकर सचिव पद हटवाने का काम किया गया है जो सरासर अन्याय है |
संयुक्त संचालक अधिकारी बीपी मनहर ने बताया कि जब हाथकरघा संघ में बतौर सचिव के पद पर कार्य कर रहे थे तब से हाथकरघा संघ के अध्यक्ष मोतीलाल देवांगन ने जानबूझकर भ्रष्ट आचरण, पैसे लेकर काम देना, हमेशा शराब पीकर कार्यालय से अनुपस्थित रहना, सबके सामने जलील करना, बीजेपी समर्थित समूहों को काम दिए जाने सहित कई गंभीर आरोप लगाये है | जिसके सम्बन्ध में थाने में एफ आई आर होने जैसी बाते कहीं है | जिसका अध्यक्ष के पास ऐसी सक्षम न्यायालय की कार्यवाही का आदेश आरोप पत्र मोतीलाल देवांगन के पास नहीं है | फिर भी इस तरह का कीचड़ उछालने का काम और कई अपमानजनक शब्दों उपयोग किया गया है | जबकि इस तरह के किसी भी आरोप का अध्यक्ष मोतीलाल देवांगन के पास साक्ष्य नहीं होने के बाद भी आरोप लगाया गया है जो घोर निंदनीय है|
बीपी मनहर अपने आरोप पत्र में उल्लेख करते हुए कहा है कि अध्यक्ष मोतीलाल देवांगन पर पद का दुरुपयोग करने संघ के संचालक मंडल सदस्य कृष्ण कुमार देवांगन और मेला बाई से दबाव डालकर एवं सच्चाई को छुपाकर दस्तावेज और आवेदनों में हस्ताक्षर करवाया था जिसकी जानकारी दोनों सदस्यों के द्वारा शपथ पत्र देकर बताया है। वहीं जब प्रबंध संचालक राजेश राणा पर लगे आरोपों को लेकर पक्ष जानने के लिए उनके मोबाईल नम्बर पर हमारे संवाददाता चमन प्रकाश केयर ने संपर्क किया तो, उन्होंने काल रिसीव नहीं किया और न ही हमारे मैसेज का जवाब दिया |
छत्तीसगढ़ राज्य अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष राम जी भारती ने बताया कि ग्रामोद्योग विभाग के संयुक्त संचालक बीपी मनहर द्वारा आयोग में शिकायत किया गया है | जिस पर कार्यवाही को आगे बढाने के लिए हाथकरघा संघ के अध्यक्ष मोतीलाल देवांगन को नोटिस जारी कर बयान देने के लिए बुलाया गया था बयान की कापी को देखने के बाद कुछ कह पाउँगा।
छत्तीसगढ़ राज्य हाथकरघा विपणन संघ मर्यादित के अध्यक्ष मोतीलाल देवांगन ने कहा कि राज्य अनुसूचित जाति आयोग में जो शिकायत मनहर द्वारा किया गया था उसकी जवाब विषयावर जानकारी मेरे द्वारा दे दी गई हैं सारे आरोप निराधार हैं।