breaking news New

संसदीय सचिव ने कहा -किसानों को सशक्त बनाने बघेल सरकार कटिबद्ध

संसदीय सचिव ने कहा -किसानों को सशक्त बनाने  बघेल सरकार कटिबद्ध

जगदलपुर। छत्तीसगढ़ के किसानों को समृद्ध व सशक्त बनाने संवेदनशील मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरकार द्वारा कई प्रकार की योजनाएं संचालित है जिसके कारण किसानों की  आर्थिक स्थिति में सुधार हो रहा है तथा कृषि विकास की रफ्तार बढ़ने से अन्य उघोगों में तेजी आई है और जीडीपी ग्रोथ बढ़ने के मामले में दूसरे क्रम पर है।

छत्तीसगढ़ सरकार के नगरीय निकाय व श्रम विभाग के संसदीय सचिव व जगदलपुर विधायक रेखचंद जैन ने उक्त बातें कही।

संसदीय सचिव रेखचंद जैन ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार की महत्वाकांक्षी योजना नरवा,गरवा,घुरवा व बाड़ी योजना के तहत किसानों के लिए मिल का पत्थर साबित हो रहा है। नरवा योजना से पूराने नहर -नालों को पुर्नजीवित किये जा रहें हैं। गरवा योजना से गायों का संवर्धन हो रहा है। गो -धन योजना से  गोबर की खरीदी हो रही है जोकि घुरवा योजना का घोतक है।बाड़ी योजना अंतर्गत फल व सब्जी का उत्पादन किया जा रहा है।

किसानों के  ज्यादा उघोगपतियों की चिंता मोदी सरकार को 

संसदीय सचिव रेखचंद जैन ने केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि मोदी सरकार किसान हितैषी होने का ढोंग कर रही है और उघोगपतियों को फायदा पहुंचाने में लगे हुए जिससे किसान उद्वेलित है तथा केंद्र सरकार के कृषि कानून के विरोध में आंदोलित है। संसदीय सचिव रेखचंद जैन कांग्रेस कमेटी के संगठन ब्लाक नानगुर में कृषि विभाग द्वारा आयोजित बीज वितरण समारोह के दौरान कहीं। संसदीय सचिव जैन ने तत्कालीन रमन सरकार पर आरोप लगाते हुए  कहा कि 15 वर्षों तक किसानों के समर्थन मूल्य में धान खरीदी का दावा करने वाली फूल छाप की सरकार ने हमेशा किसानों को छला जबकि कांग्रेस राज्य में 2500 रुपए में धान की खरीदी की जा रही है। इस दौरान नानगुर के 81कृषकों को 41 क्विंटल से ज्यादा उन्नतिशील बीज का वितरण किया गया। चना,उड़द,मुंग व सोयाबीन बीज वितरण किया गया है वहीं   कोयनार में भी बीज वितरण किया गया। 

एक रुपये में चांवल देकर और दो रुपए किलो गोबर खरीदी

संसदीय सचिव रेखचंद जैन ने कहा कि छत्तीसगढ़ प्रदेश के भूपेश बघेल सरकार देश की एकलौती सरकार है जिसके द्वारा एक रुपए में चांवल वितरण कर दो रुपए में गोबर की खरीदी कर रही है। इस दौरान संसदीय सचिव रेखचंद जैन ने शासन की अन्य जनकल्याणकारी योजनाओं के बारे में बताया गया है। संसदीय सचिव द्वारा बीज का वितरण किया गया जिसमें नानगुर,जमावाड़ा,बड़े मुरमा,छोटे कवाली,नेतानार,चेचालगुर,उलनार,सिडमुड,पुसपाल सहित क्षेत्र के किसानों को  फायदा मिलेगा।इसी के साथ ही कोयनार में कोयनार, सेड़वा,नेगानार,चिंगपाल, छिंदबहार सहित अन्य क्षेत्र के किसान लाभान्वित हुए।

कोयनार वर्मी कम्पोस्ट बनाने का लिया जायजा

संसदीय सचिव रेखचंद जैन ने कोयनार में बन रहे वर्मी कम्पोस्ट केंद्रों का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए गोठानों में भी वर्मी कम्पोस्ट खाद बनाए जा रहे हैं जिसके कारण स्व सहायता समूहों को अधिक से अधिक  फायदा मिल रहा है। नानगुर में पैकेजिंग वर्मी कम्पोस्ट लेकर माताएं -बहनें आई थी तो कोयनार में वहां की महिलाओं द्वारा वर्मी खाद बनाकर पैकेजिंग की तैयारी कर रही थी।

यह रहे मौजूद

जनपद सदस्यगण नीलू राम बघेल, धनसिंह बघेल ,मुन्ना राम कश्यप ,तुलाराम कश्यप ,श्रीमती दिनमणि बेसरा, सरपंच गण सुखरानाग,जुगधर, धरम बघेल,राजन बघेल, हरीबंधु, जानकी कश्यप, उपसरपंच लोकेश सेठिया, सरोज नागेश, जिला महामंत्री हेमु उपाध्याय, आईटी सेल प्रदेश महासचिव योगेश पानीग्राही,फुलसिंह बघेल सुनील दास, राधा मोहन दास, सोनारु नाग, बोनो राम, लछिंदर बघेल, खगवती सेठिया, हरिहर सेठिया, रमाकांत सेठिया,हेमधर नाग, संजय गुप्ता, खगु सेठिया, जय राम, कृषि विभाग के जगदलपुर के वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी अजय मिरी, दरभा के वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी ए.के बोस, ग्रामीण कृषि विकास अधिकारी आरपी सेठिया, देबोराम कश्यप सहित अधिकारी-कर्मचारी, कृषकगण व ग्रामीणजन उपस्थित थे।