breaking news New

टेकाम ने किया सरईडीह गौठान का निरीक्षण, आदर्श गौठान के रूप में विकसित करने दिए निर्देश

 टेकाम ने किया सरईडीह गौठान का निरीक्षण, आदर्श गौठान के रूप में विकसित करने दिए निर्देश

कोरबा।  जिले के प्रभारी मंत्री एवं स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने विकासखण्ड कोरबा अंतर्गत ग्राम पंचायत पहांदा के सरईडीह गौठान का औचक निरीक्षण किया। डॉ. टेकाम ने गौठान में हो रहे जीविकोपार्जन के विभिन्न कार्यों का अवलोकन किया। महिलाओं द्वारा आजीविका के लिए संचालित किए जा रहे विभिन्न गतिविधियों की जानकारी ली और आर्थिक उन्नति के लिए इन गतिविधियों के लिए महिलाओं की प्रशंसा की। इस दौरान प्रभारी मंत्री ने जनप्रतिनिधियों और ग्रामीणों के साथ वृक्षारोपण भी किया। प्रभारी मंत्री ने गौठान में पहुंचकर बत्तख पालन के लिए विकसित किए गए तालाब में बत्तखों को दाना खिलाया। डॉ. टेकाम ने करूणा और सहेली स्वसहायता समूह की महिलाओं द्वारा किए जा रहे मछली पालन का भी अवलोकन किया तथा महिलाओं द्वारा आर्थिक उन्नति के लिए किए जा रहे इस काम की प्रशंसा की। उन्होंने सरईडीह गौठान को ग्रामीण महिलाओं की आजीविका का केन्द्र बनाते हुए आदर्श गौठान के रूप में विकसित करने के निर्देश उपस्थित अधिकारियों को दिए। प्रभारी मंत्री डॉ. टेकाम ने स्वसहायता समूह की महिलाओं द्वारा गौठान में मशरूम उत्पादन इकाई शुरू करने की मांग पर 20 लाख रूपए की राशि स्वीकृत की। इस दौरान मुख्यमंत्री अधोसरंचना विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष एवं पाली तानाखार क्षेत्र के विधायक मोहित राम केरकेट्टा, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती शिवकला कंवर, रामपुर क्षेत्र के पूर्व विधायक श्यामलाल कंवर, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी कुंदन कुमार, नगर निगम आयुक्त कुलदीप शर्मा, जनपद पंचायत कोरबा के सीईओ जी. के. मिश्रा, उपसंचालक कृषि ए. के. शुक्ला, सहायक संचालक उद्यानिकी दिनकर सहित गौठान समिति के सदस्यों और ग्रामीणजन मौजूद रहे। 

डॉ. टेकाम ने ग्रामीणों के साथ सरईडीह के गौठान परिसर में मंदिर बनाने के लिए भूमि पूजन भी किया। उन्होंने गौठान में गोधन न्याय योजनांतर्गत गोबर खरीदी की भी जानकारी गौठान समिति के सदस्यों से ली। समूह की महिलाओं द्वारा गोबर से बनाए जा रहे वर्मी कम्पोस्ट की भी जानकारी ली तथा वर्मी टांको का भी अवलोकन किया। स्वसहायता समूह की महिलाओं ने प्रभारी मंत्री को बताया कि गोधन न्याय योजना के प्रारंभ से अभी तक कुल एक हजार 122 क्ंिवटल गोबर की खरीदी की जा चुकी है। खरीदे गए गोबर से 341 क्ंिवटल वर्मी खाद भी बनाया जा चुका है और तैयार किए गए सभी वर्मी कम्पोस्ट की बिक्री भी की जा चुकी है। वर्मी कम्पोस्ट की बिक्री से स्वसहायता समूह की महिलाओं को 83 हजार 918 रूपए तथा गौठान समिति को 79 हजार 052 रूपए का आय प्राप्त हो चुका है। गौठान में आजीविका संवर्धन की अन्य गतिविधियां सब्जी उत्पादन, दोना-पत्तल निर्माण, अगरबत्ती निर्माण भी संचालित की जा रही है। इन गतिविधियों में गांव के सात महिला समूहों के 70 सदस्य गौठान में काम कर रहीं हैं जिससे महिलाओं और उनके परिवारों को आर्थिक लाभ हो रहा है। महिलाओं ने प्रभारी मंत्री को बताया कि गौठान में आर्थिक लाभ को बढ़ाने के लिए मुर्गी पालन, बकरी पालन और मशरूम उत्पादन करने की भी कार्ययोजना है जिससे तीन और स्वसहायता समूह के 32 सदस्य लाभान्वित होंगे। प्रभारी मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने सरईडीह गौठान निरीक्षण के दौरान हितग्राहियों को विभिन्न योजनांतर्गत सामग्री का वितरण भी किया। ग्रामीणों को जिला खनिज न्यास मद अंतर्गत दो नग पावर चलित उड़ौनी पंखा, चार नग बैट्री हस्त स्प्रेयर, 12 नग दांतेदार हंसिया, दो नग 11 पीस सेट युक्त हार्टिकल्चर टूलकिट, विद्युत एवं पेट्रोल चलित पानी पंप का वितरण किया गया। प्रभारी मंत्री ने ग्रामीणों को जामुन, अमरूद, कटहल, नींबू आदि 500 फलदार पौधों का वितरण भी किया। 

सरईडीह गौठान के कामों पर प्रभारी मंत्री ने जाहिर की प्रसन्नता - ग्राम पंचायत पाहंदा के आश्रित ग्राम सरईडीह की सरहद पर बने गौठान पहुंचकर प्रभारी मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह  टेकाम ने गौठान में हुए कामों का भी निरीक्षण किया। उन्होंने गौठान में बने कोटना, पशु शेड, मुर्गीपालन शेड, चरवाहा कक्ष आदि का निरीक्षण किया। डॉ. टेकाम गौठान में मछली पालन और बतख पालन के रोजगार मूलक काम से काफी प्रभावित हुए। उन्होंने इस काम में लगे स्वसहायता समूह की महिलाओं से भी बातचीत की और उनकी सराहना की। उन्होंने जिला पंचायत के सीईओ कुंदन कुमार से गौठान निर्माण से जुड़ी सभी जानकारियां लीं।