breaking news New

शराब मैनेजर के आगे नतमस्तक है जिला आबकारी अधिकारी

शराब मैनेजर के आगे नतमस्तक है जिला आबकारी अधिकारी

संजय सोनी, भानुप्रतापपुर। देशी शराब दुकान चारामा के मैनेजर के खिलाफ मिलावटी शराब बेचे जाने की लगातार शिकायत के बावजूद भी जिला आबकारी अधिकारी के द्वारा कार्यवाही नही किया जाना साहब की संलिप्तता से इंकार नही किया जा सकता। कुछ दिनों से देशी शराब मैनेजर प्रशांत चतुर्वेदी के द्वारा शासन के नियम कायदे को ताक पर रखते हुए अपने नियम चला रहे है। कुछ दिनों पूर्व से देशी शराब दुकान चारामा में कैमिकलयुक्त मिलावटी देशी शराब बेचे जाने की बात सामने आ रही है।

वहीँ कुछ मंदिरा प्रेमियों द्वारा भी देशी शराब को लेकर शिकायत की गई थी। जिसे लेकर गत दिवस प्रमुखता से समाचार प्रकाशित की गई थी। लेकिन आबकारी विभाग के द्वारा आज पर्यन्त तक देशी शराब दुकान चारामा के मैनेजर के खिलाफ कोई भी कार्यवाही नही किया जाना समझ से परे है।

बता दे कि जिले में चारामा देशी शराब दुकान बड़ी दुकान है जहाँ प्रतिदिन बिक्री लाखो की होती है जहाँ पर विगत कुछ दिन पूर्व ही सुनियोजित तरीके से जिला आबकारी अधिकारी के द्वारा स्थानीय कर्मचारियों को बेवजह शिकायत बनाते हुए वहा से हटा दिया गया एवं उनके स्थान पर प्रशांत चतुर्वेदी जो कांकेर जिला से नही बल्कि बाहर का है, लेकिन साहब के करीबी व चेहेते होने से उन्हें वहा नियुक्त कर दिया गया। नए मैनेजर के आते ही देशी शराब में मिलावटी की शिकायत भी बढ़ने लगी है। मैनेजर वहा हजारों कमाते हुए मंदिरा प्रेमियों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है।