कोविड सेंटर सकरी से ईलाज के लिए भर्ती हुआ कैदी लापता

कोविड सेंटर सकरी से ईलाज के लिए भर्ती हुआ कैदी लापता


बलौदाबाजार।
कोविड सेंटर सकरी से ईलाज के लिए भर्ती किया गया उपजेल बलौदाबाजार का कैदी लापता हो गया जिससे जेल प्रशासन सहित स्वास्थ्य विभाग और पुलिस प्रशासन में हडकंप है।
मामले की जानकारी तब हुई जब उपजेल द्वारा कैदी को वापस लाने प्रहरियो को भेजा गया तब पता चला कि उक्त कैदी वहां पर नही है और कहा गया इसका पता नहीं  है। प्रहरियो ने तत्काल इसकी सूचना अपने अधिकारी जेलर अभिषेक मिश्रा को दी तब उन्होंने मामले की जानकारी कोतवाली थाने केा देते हुए एफआईआर दर्ज कराया है।
कैदी के लापता होने की पुष्टि मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. केआर सोनवानी ने भी की है। लापता कैदी को कुछ ही दिन पूर्व गांजे के साथ गिधौरी पुलिस ने पकड़ा था और उसके बाद जेल दाखिल कराया था जहां पर कोरोना टेस्ट मे पाजिटिव आने पार उसकी उम्र को देखते हुए कोविड सेंटर सकरी मे दाखिल किया गया था। सवाल यहां पर यह उठ रहा है कि उक्त कैदी कब से लापता हुआ है इसकी जानकारी स्पष्ट रूप से सामने नही आ रही है जो कि जांच का विषय है । वही कैदी के लापता होने पर पुलिस द्वारा तलाश किये जाने की बात कही जा रही है। स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही का एक बड़ा कारनामा सामने आया है, कोविड सेंटर सकरी से उपजेल बलौदाबाजार से ईलाज के लिए दाखिल किया गया 65 वर्षीय कैदी लापता हो गया है। मामले की जानकारी देते हुए उपजेल बलौदाबाजार के जेलर अभिषेक मिश्रा ने बताया कि गत दिनों कोरोना संबधित टेस्ट कराया गया था जिसमे से 65 वर्षीय कैदी की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आयी थी उसके बाद उसके उम्र को ध्यान मे रखते हुए कोविड हास्पीटल सकरी मे दाखिल कराया गया था जहां उसका ईलाज किया जा रहा था। कोविड हास्पीटल द्वारा उसके ठीक होने की सूचना पर प्रहरियों को उसे लेने भेजा गया वहंां जाने पर पता चला कि कैदी वहां पर नहीं है जिस पर प्रहरियों द्वारा सूचना मिलने पर आसपास पतासाजी की गयी साथ ही उच्चाधिकारीयों केा सूचना के साथ पुलिस को भी सूचना दी गयी तलाश किया गया पर नही मिला जिस पर कोतवाली पुलिस मे एफआईआर दर्ज कराया गया है और आगे की कार्यवाही पुलिस द्वारा जारी है। मामले के संबंध में जब सीएमएचओ डॉ. केआर सोनवानी से पूछा गया तो उन्होने बताया कि मामले की जानकारी मिली है स्टाफ  की कमी की वजह से तकनीकी चुक हुई है और कैदी के लापता होने की जानकारी मिली है। भविष्य मे इसकी पुनरावृत्ति न हो इसका ध्यान रखा जायेगा।
कुछ दिन पूर्व ही आरोपी कैदी को गिधौरी पुलिस द्वारा गांजे के साथ पकडा गया था तथा उसे उपजेल बलौदाबाजार मे दाखिल कराया गया था। अब यहां पर  सवाल यह उठता है कि आखिर इलाज के लिए कोविड सेंटर सकरी मे भर्ती किया गया उक्त कैदी कब फरार हो गया है इसकी जानकारी अधिकारी नहीं दे पा रहे है । मामले का खुलासा तो तब हुआ जब उपजेल के कर्मचारी कैदी को लेने गये। सूत्र यह भी बताते हैं कि इस कोविड सेंटर में इसी नाम के दो मरीज थे जिनका ईलाज चल रहा था। मामले की जांच कोतवाली पुलिस कर रही है और लापता कैदी के पकडे जाने के बाद ही मामले का खुलासा हो पायेगा कि आखिर वह किस तरह कोविड सेंटर के कर्मचारियों केा चकमा देकर फरार हुआ है ।