breaking news New

विधानसभा ब्रेकिंग : विपक्ष का बहिष्कार जारी..एसीएस सुब्रत साहू सहित अफसरों की अनुपस्थिति पर सदन गरमाया, गृह मंत्री ने किया बचाव, ब्रजमोहन अग्रवाल सहित अजय चंद्राकर ने उठाया मुद्दा, डीजीपी अवस्थी चर्चा में रहे

विधानसभा ब्रेकिंग : विपक्ष का बहिष्कार जारी..एसीएस सुब्रत साहू सहित अफसरों की अनुपस्थिति पर सदन गरमाया, गृह मंत्री ने किया बचाव, ब्रजमोहन अग्रवाल सहित अजय चंद्राकर ने उठाया मुद्दा, डीजीपी अवस्थी चर्चा में रहे

अनिल द्विवेदी

रायपुर. छत्तीसगढ़ विधानसभा के बजट सत्र में आज भाजपा विधायक शिवरतन शर्मा ने कानून व्यवस्था से जुड़ा मुद्दा उठाया। गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू की उपस्थिति में शर्मा और विधायक अजय चंद्राकर ने कहा की कानून व्यवस्था की स्थिति बिगड़ी है।

उन्होंने मुख्यमंत्री के कल के भाषण का हवाला देते हुए कहा मुख्यमंत्री ने कहा था कि अपराध को रोकने में हम सफल रहे हैं। भाजपा विधायक अजय चंद्राकर ने आज मीडिया की खबरों का हवाला देते हुए कहा कि सरकार अवैध नोटों की छपाई से इनकार करती रही है लेकिन आज 7 करोड़ से ज्यादा के नोट राजधानी में ही पकड़े गए हैं जो घर में ही छापे गए थे। इस पर सत्ता पक्ष चुप्प हो गया। 

विधायक शिवरतन शर्मा ने जब कहा कि पूरा प्रदेश भय और आतंक के माहौल में है, बलात्कार हत्या चोरी लूट अपहरण ऐसा कोई अपराध नहीं बचा है जो छत्तीसगढ़ में ना हो रहा हो, इस पर मंत्री अमरजीत भगत और विधायक मोहन मरकाम ने उन्हें बताया कि आप की सरकार में क्या हाल है। मोहन मरकाम ने कहा कि आज जो घटना हुई है उसमें भाजपा कार्यकर्ता का नाम सामने आया है इस पर शिवरतन शर्मा ने कहा कि सोशल मीडिया में उठाकर देख लीजिए आपके एक खास आदमी का नाम कोंडागांव की घटना में शामिल बताया जा रहा है। 

सदन में इस बात पर चर्चा होती रही कि किसी भी पार्टी का पदाधिकारी हो उसे सजा अवश्य मिलनी चाहिए। मंत्री अमरजीत भगत का आरोप था कि अवैध शराब और नोटों के जो मामले हैं, वह पड़ोसी भाजपा राज्यों से ही आ रहे हैं। कांग्रेस के मोहन मरकाम ने टिप्पणी की कि यूपी में जो अपराध हो रहे हैं और कर्नाटक में जिस मंत्री ने इस्तीफा दिया है इससे साबित होता है कि भाजपा के लोग अपराध करते हैं।

सदन में फिर उठा अफसरों की अनुपस्थिति का मुद्दा 

भाजपा के वरिष्ठ विधायक बृजमोहन अग्रवाल और अजय चंद्राकर ने सदन में अफसरों की गैरमौजूदगी का मुद्दा उठाया। बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि गृह मंत्रालय के अफसर नहीं दिख रहे हैं, अफसरों को यहां पर मौजूद रहना चाहिए। इससे मंत्री की गरिमा बढ़ेगी। 

इस पर गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने अफसरों का पक्ष लेते हुए कहा कि एसीएस सुब्रत साहू को कोरोना का टीका लगा है इसलिए उन्होंने थोड़ा देर से आने की बात कही है। हांलांकि श्री साहू लंच बाद अफसर दीर्घा में मौजूद थे। 

गृह मंत्री ने नाम गिनाया कि डीजीपी डीएम अवस्थी से लेकर कई अफसर सदन में मौजूद है इसके बाद नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने भी कहा कि अफसरों को चाहिए कि वे सदन में अपनी उपस्थिति बनाए रखें। सभी ने विधानसभा उपाध्यक्ष मनोज मंडावी से निवेदन किया कि वह अफसरों को सदन में उपस्थित रहने का निर्देश देवें।

हालाँकि समाचार लिखे जाने तक विपक्ष ने सदन का बहिष्कार कर रखा हैं। विधानसभा अध्यक्ष डॉ चरण दास महंत सदन की कार्यवाई का संचालन कर रहे हैं।