breaking news New

ई-श्रेणी में पंजीयन के लिए बढ़ रहा युवा ठेकेदारों की संख्या, छह माह में 2415 युवाओं ने कराया पंजीयन

ई-श्रेणी में पंजीयन के लिए बढ़ रहा युवा ठेकेदारों की संख्या, छह माह में 2415 युवाओं ने कराया पंजीयन


रायपुर ।  राज्य सरकार के सभी विभागों में निर्माण कार्यों के लिए ई-श्रेणी में पंजीयन के लिए युवा ठेकेदारों की संख्या लगातार बढ़ रही है। प्रदेश के युवाओं को विकास कार्यों में भागीदार बनाने तथा निर्माण कार्यों में रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के उद्देश्य से ई-श्रेणी पंजीयन की व्यवस्था की गई है। इसके तहत पंजीकृत बेरोजगार युवाओं को 20 लाख रूपए तक के कार्य ब्लॉक स्तर पर दिए जाने का प्रावधान है। पिछले लगभग छह माह में 2415 युवाओं ने ई-श्रेणी में पंजीयन करा चुके हैं। पंजीयन कार्य 25 दिसम्बर 2020 से शुरू किया गया है। लोक निर्माण विभाग को एकीकृत पंजीयन के लिए नोडल एजेंसी निर्धारित किया गया है। पंजीयन के लिए विस्तृत जानकारी लोक निर्माण विभाग की वेबसाइट http://pwd.cg.nic.in  से प्राप्त की जा सकती है।

प्रदेश में अब तक जशपुर जिले में 256, सूरजपुर जिले में 199, सरगुजा जिले में 198, कोरबा जिले में 157, रायगढ़ जिले में 157, रायपुर जिले में 163, राजनांदगांव जिले में 126 और दुर्ग जिले में 101 युवा ठेकेदारों का पंजीयन किया गया है। बलरामपुर-रामानुजगंज जिले में 86, बलौदाबाजार-भाटापारा जिले में 66, कोरिया जिले में 80, उत्तर बस्तर कांकेर जिले में 73, जांजगीर-चांपा जिले में 76, दक्षिण बस्तर दंतेवाड़ा जिले में 69, सुकमा जिले में 59, कबीरधाम जिले में 73 और महासमुंद जिले में 59 युवाओं का पंजीयन किया गया है।

इसी तरह बिलासपुर जिले में 54, धमतरी जिले में 66, बस्तर जिले में 57, मुंगेली जिले में 61, बीजापुर जिले में 35, बेमेतरा जिले में 27, गरियाबंद जिले में 38, बालोद जिले में 36, कोण्डागांव जिले में 25, गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिले में 15 और नारायणपुर जिले में 3 युवा ठेकेदारों का ई श्रेणी में पंजीयन किया गया है।