breaking news New

छत्तीसगढ़ राज्य हाथकरघा विकास एवं विपणन संघ का मामला, कर्मचारी रामकिशुन देवांगन ने अपने ऊपर लगे आरोपों को किया सिरे से ख़ारिज

छत्तीसगढ़ राज्य हाथकरघा विकास एवं विपणन संघ का मामला, कर्मचारी रामकिशुन देवांगन ने अपने ऊपर लगे आरोपों को किया सिरे से ख़ारिज

रायपुर, 2 नवंबर। छत्तीसगढ़ राज्य हाथकरघा विकास एवं विपणन संघ में बढ़ता विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है . इस बीच कर्मचारी रामकिशुन देवांगन ने अपने ऊपर लगे आरोपों सिरे से ख़ारिज करते हुए बताया कि कुछ महिला स्व सहायता समूहों को एक साल में तीस हजार से अधिक गणवेश सिलाई के लिए मिलता था. तो वही कई ऐसे समूह है जिनको तीन से चार हजार कपडे ही पुरे साल भर के भीतर मिल रहा था . इसकी शिकायत पीड़ित महिला समूहों ने प्रबंध संचालक राजेश राणा से की थी . इसके बाद प्रबंध संचालक के निर्देश पर एक नियम बनाने का काम किया गया है . इस नए नियम के मुताबिक अब किसी भी समिति को एक साल में बीस हजार से अधिक गणवेश सिलाई के लिए नहीं दिया जायेगा . यही वजह है की जिन लोगो को इस नियम से तकलीफ हो रही है वही लोग ही उनके खिलाफ शिकायत कर रहे है. 

रामकिशुन देवांगन ने कहा कि शोभा ठाकुर के धरना प्रदर्शन के उनका किसी भी प्रकार से दूर- दूर से कोई वास्ता नहीं है. इसके आलावा बंगाल के कारीगरों के सम्बन्ध से भी कोई ताल्लुक नही है कुछ तत्व जुरूर उनके खिलाफ काम रहा है. उन्होंने कहा कि रेडीमेड कक्ष प्रभारी से हटने के बाद तत्काल कोरबा के शो रूम में ज्वाइनिंग दे दिए है. इसके साथ ही बोर्ड के चेयरमेन मोतीलाल देवांगन का अतिरिक्त प्रभार में निज सहायक के पद में कार्यरत है . साथ ही जब  रेडीमेड कक्ष के प्रभारी था तब किसी भी महिला स्व सहायता समूहों से कभी भी कमीशन के लिए मांग नही किया गया है और न ही इसके लिए किसी से आज तक किसी भी महिला समूहों से मोबाईल के जरिये फ़ोन नही किया गया है.


स्व सहायता समूहों ने ग्रामोद्योग मंत्री गुरु रूद्र कुमार से देवांगन की शिकायत की थी. इस पर विभागीय मंत्री ने एक महीना पहले रामकिशुन देवांगन को तत्काल निलम्बित करने के आदेश विभाग के अधिकारी को दिए थे. जिसका अनुमोदन के लिए चेयरमेन मोतीलाल देवांगन के पास एमडी आइएएस राजेश राणा भेजा है .  वही रामकिशुन ने बताया कि हाथकरघा संघ के सेवा नियम के मुताबिक ही संघ के कर्मचारी कार्यरत है . इसी के आधार पर एमडी राजेश राणा ने संचालक मंडल के पास अनुमोदन के लिए भेजे है | रही बात कार्यवाही की तो किसी पर भी नियम संगत ही कार्यवाही होनी चहिये . किसी के दबाव में आकार काम नही किया जाना चाहिए .

कर्मचारी रामकिशुन देवांगन को निलंबित करने का आदेश मिलने के बाद अनुमोदन के लिए फॉरवर्ड कर दिया हूँ. इस पर अब तक क्या कार्यवाही हुयी है, इसकी मुझे जानकारी नही है. फ़िलहाल मैं बिहार चुनाव ड्यूटी में व्यस्त हूँ.

राजेश राणा प्रबंध संचालक हाथकरघा  संघ

निलम्बन करने से जुडी फाईल नहीं देखा हूँ जो भी नियम संगत निलम्बन कि प्रकिया होगी उसे किया जायेगा . फिलहाल मध्यप्रदेश के चुनाव ड्यूटी में व्यस्त हूँ . रायपुर आने के बाद फाईल देखकर ही कुछ बता पाउँगा .

मोतीलाल देवांगन . चेयरमेन छ.ग. राज्य हाथकरघा विकास एवं विपणन संघ