breaking news New

नरपिशाचों को फांसी के तख्ते तक ले जाने के लिए CM ने फॉलोअप के दिए निर्देश

नरपिशाचों को फांसी के तख्ते तक ले जाने के लिए CM ने फॉलोअप के दिए निर्देश

भोपाल। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कुछ जिलों में घटित महिलाओं के विरूद्ध अपराधों पर सख्त से सख्त कार्यवाही के निर्देश दिए हैं।

मुख्यमंत्री  चौहान ने विशेष रूप से हाल ही में इंदौर, सीहोर, ग्वालियर और शिवपुरी में हुई घटनाओं को लेकर वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को निर्देशित किया। उन्होंने अमानवीय और घृणित कृत्य करने वाले नरपिशाचों को फांसी के तख्ते तक ले जाने के लिए ऐसे प्रकरणों के फॉलोअप के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने इंदौर की कल की घटना पर दोषियों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि दोषियों के विरूद्ध सिर्फ गिरफ्तारी तक कार्यवाही सीमित नहीं होना चाहिए। इंदौर ग्रामीण के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने जानकारी दी कि इस प्रकरण में 5 लोग गिरफ्तार हुए हैं। मुख्यमंत्री ने इंदौर की घटना के मामले में अविलंब आरोप पत्र लगाने और फॉस्ट ट्रेक कोर्ट में मामला ले जाने के निर्देश दिए।

उन्होंने सीहोर की घटना पर भी गंभीर रूख अपनाते हुए कि इसमें दोषियों को फास्ट ट्रेक के माध्यम से दण्डित किया जाए। उन्होंने ग्वालियर के पुलिस अधिकारियों से 27 दिसंबर की घटना पर चर्चा की। इस प्रकरण में तीन व्यक्ति गिरफ्तार हुए हैं।

अपराध में उपयोग में लाए गए ट्रक को भी राजसात करने और ट्रक के मालिक के विरूद्ध भी एफआईआर करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने शिवपुरी एसपी से जिले में एक बालिका पर परिजन द्वारा घटित अपराध की घटना में दोषी के विरूद्ध कठोरतम दंड के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इंदौर की घटना मानवता को शर्मसार करने वाली घटना है। उन्होंने अपराधियों की संपति जप्त करने को भी कहा। महिला अपराध को लेकर चारों मामलों में मुख्यमंत्री ने बैठक में निर्देश दिए कि इन्हें चिन्हित अपराध के श्रेणी में शामिल करते हुए फास्ट ट्रेक कोर्ट के माध्यम से कार्यवाही की जाए।

श्री चौहान ने उज्जैन में पतंगबाजी में उपयोग में लाए जाने वाले चीनी मांझे से एक युवती की मृत्यु को दुखदायी बताते हुए कहा कि प्रतिबंधित मांझे का उपयोग करने वालों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही की जाए।

प्रदेश में किसी भी स्थान पर इनके विक्रय और उपयोग पर नजर रखें और जानलेवा सिद्ध होने वाली इस सामग्री के इस्तेमाल को नियंत्रित करें। बैठक में अपर मुख्य सचिव गृह डॉ. राजेश राजौरा, पुलिस महानिदेशक विवेक जौहरी, मुख्यमंत्री कार्यालय के विशेष कर्तव्यस्थ अधिकारी योगेश चौधरी उपस्थित थे।