breaking news New

हजारो दियों की रोशनी से जगमगाया सुकमा का शबरी घाट

हजारो  दियों की रोशनी से जगमगाया सुकमा का शबरी घाट

सुकमा --कार्तिक पूर्णिमा की संध्या और   हजारो  दियों की रोशनी से जगमगा उठना  सुकमा की शबरी घाट का यहा मनोरम दृश्य सुकमा के लिय बिल्कुल ही नयी थी । जो पं.सुशील त्रिपाठी के मार्ग दर्शन व नारायणी मानस मण्डली सेवा व विभिन्न सामाजिक संगठनों के सहयोग  से सम्भव हो सका । शबरी घाट मे कार्तिक पुर्णिमा के उपलक्क्ष मे  आयोजित  कार्यक्रम के लिए लोगों ने अपने ओर से दीपक, तेल और बातियाँ ले आए थे

दीपोत्सव के इस कार्यक्रम को लेकर शहर के सभी वर्गों में काफी  उत्साह देखने को मिला और पूरे शबरी घाट पे व आसपास मेलो सा माहौल बन गया। बच्चे से लेकर बूढ़े तक सभी  वर्ग के लोगों की सहभागिता से यहां का उत्साह और भी कयी गुना बढ़ गया !

वहीं शबरी घाट में पूजा अर्चना के बाद एक साथ  हजारों दियों की रोशनी में शबरीघाट की सुंदरता भी कई गुना बढ़ गई। वही नदी मे दोनियो मे छोडी गयी दीपक की रौशनी   शबरी के किनारों के साथ ही पुरी शबरी के पानी मे ज्योती ऐसे रिपलेक्शन हो रही थी मानो आकाश से तारे शबरी के टट पर आ पहुचे हो ,इस मनोरम दृश्य को देख लोग कृत कृत हो उठे आयोजको ने बताया सुकमा मे ऐसे पहला पहल है जो ऐतिहासिक होने के साथ सभी नगरवासियो के सहयोग से सम्पन्न हुआ हो