breaking news New

पुलिया के दोनों ओर संकेतक नहीं लगाने के कारण युवक की हादसा में मौत

पुलिया के दोनों ओर संकेतक नहीं लगाने के कारण युवक की हादसा में मौत

भानुप्रतापपुर। सरकार द्वारा क्षेत्र की जनता को गड्ढों भरी सड़कों से निजात दिलाने के लिए लाखो करोड़ की लागत से सड़क व पुल निर्माण कार्य किया जा रहा है,लेकिन ठेकेदार व विभागीय अधिकारियों की लापरवाही के चलते क्षेत्र की जनता को आए दिन दुर्घटना का शिकार होना पड़ रहा है,हाल ही में निर्माणाधीन पुल पर संकेतक नहीं होने से कार्तिक विश्वकर्मा उम्र 32 को अपनी जान गवानी पड़ी, कार्तिक कोरर में काम करता था, जब सुबह वह घर से निकला था तो वहां पुल निर्माण का काम चालू नहीं किया गया था जब वह वापस आ रहा था तो कोई संकेतक नहीं होने से सीधे पुल निर्माण के लिए खोदे गए गड्ढे में जा गिरा जिससे घटनास्थल पर ही कार्तिक की मौत हो गई। ठेकेदार व विभागीय अपने आप को बचाने के लिए जिस पुल पर दुर्घटना हुई मात्र उसी पुल में ही आनन-फानन में सुबह संकेतक लगाया गया।

ग्राम हेटारकसा तरानदुल तक सड़क चौड़ीकरण व पुलिया निर्माण कार्य किया जा रहा है। पुलिया के दोनों ओर कोई भी संकेत बोर्ड नहीं लगा होने से पुलिया दुर्घटनाओं को आमंत्रण दे रही है। यहां रात्रि में यहां निकलने वाले वाहनों के लिए ना तो रेडियम संकेत बोर्ड, ना ही किसी प्रकार का कोई गति अवरोधक बनाया हुआ है। इसके कारण आए दिन दुर्घटनाएं घटित हो रही है। पुलिया पर जगह जगह बड़े गड्ढे होने से वाहन चालकों को परेशानी होती है। 

पुलिया के समीप बनाए बाइपास में भी ठेकेदार की लापरवाही नजर रही है। पुलिया के समीप एक बाईपास बना हुआ है जो मात्र मिट्टी डालकर बनाया गया था। यहां पर गहरा गड्ढा हो जाने से दुपहिया चौपहिया वाहन चालक दुर्घटना का शिकार हो रहे है। इस बारे में कई बार अधिकारियों को अवगत कराया गया है,लेकिन अधिकारियों के ध्यान नहीं देने से समस्या बनी हुई है। 

इस मामले को लेकर हमारे प्रतिनिधि द्वारा संबंधित अधिकारी को फोन के द्वारा संपर्क किया गया परंतु उन्होंने कॉल रिसीव ही नहीं किया,इसी बीच सब इंजीनियर शिवहरे को कॉल के माध्यम से पूछा गया कि संकेतक क्यों नहीं लगाया गया है तो उनके जवाब में यह था कि संकेतक सभी जगह लगे हुए हैं,जिससे स्पष्ट हो रहा था कि कि इंजीनियर अपने साइट पर जाते ही नहीं।