breaking news New

समाज और राष्ट्र के विकास में अधिक योगदान दे सकते हैं स्वस्थ व्यक्ति : सुश्री उइके

 समाज और राष्ट्र के विकास में अधिक योगदान दे सकते हैं  स्वस्थ व्यक्ति : सुश्री उइके

राज्यपाल फि ट इंडिया फ्रीडम  रन 2.0 कार्यक्रम में शामिल हुई

क्लिन इंडिया अभियान का भी शुभारंभ किया

रायपुर। राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके आज यहां आजादी का अमृत महोत्सव के तहत नेहरू युवा केंद्र संगठन व राष्ट्रीय सेवा योजना द्वारा आयोजित फिट इंडिया फ्रीडम रन 2.0 कार्यक्रम में शामिल हुई और फ्रीडम रन रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस अवसर पर नेहरू युवा केंद्र संगठन के निर्देशक श्रीकांत पांडे, एनएसएस के राज्य प्रमुख डॉ. समरेन्द्र सिंह, यूनिसेफ के छत्तीसगढ़ प्रमुख श्री जॉब जकारिया सहित प्राध्यापकगण और बड़ी संख्या में विद्यार्थी उपस्थित थे।राज्यपाल सुश्री उइके ने कहा कि आज यहां भारी संख्या में युवाओं की उपस्थिति देख कर वे भविष्य के भारत के लिए आश्वस्त है। उन्होंने कहा कि स्वस्थ रहकर ही हम अपने समाज और राष्ट्र के विकास में योगदान दे सकते है। उन्होंने कहा कि आज गांधी जयंती के दिन यह कार्यक्रम आयोजित करना इस बात को स्वयं रेखांकित करता है कि गांधी जी स्वच्छता और स्वस्थ शरीर को कितना अधिक महत्व देते थे। वे कहते थे कि स्वतंत्रता से ज्यादा महत्वपूर्ण स्वच्छता है। उन्होंने युवाओं से आग्रह किया कि गांधी जी के बताएं मार्ग पर चलें और अपने अधिकारों के प्रति भी सजग रहे। जिस देश के युवा जागरूक होते हैं, उस देश को पीछे मुड़कर नहीं देखना पड़ता।

राज्यपाल ने कहा कि ''एक स्वस्थ शरीर में स्वस्थ मन का वास रहता है।जब तक हम स्वस्थ नहीं होंगे तब तक हम अपने सपनों को साकार करने की इच्छा पूरी नहीें कर सकते। इसलिए हम सबको चाहे वह युवा हो, बुजुर्ग हो या गृहणी हो, स्वस्थ और फिट रहना अत्यंत आवश्यक है। स्वस्थ रहकर ही हम अपने स्वयं का एवं परिवार का ध्यान रख सकते हैैं। उन्होंने कहा कि युवाओं को फिट रहने के लिए प्रतिदिन सुबह समय निकाल कर व्यायाम करना चाहिए, इसके अनेक फायदे होंगे। आधुनिक युग में सभी की लाइफ स्टाइल ऐसी हो गई है कि भागमभाग में स्वयं के लिए समय नहीं निकाल पाते। जिसका परिणाम अत्यधिक तनाव चिड़चिड़ापन और यहां तक की युवाओं में हार्ट अटैक की बढ़ती समस्या के रूप में भी सामने आ रहा है। यह चिंतनीय बात है। राज्यपाल ने कहा कि भारतीय संस्कृति में प्रारंभ से ही सूर्योदय के पूर्व उठकर योग ध्यान, स्नान आदि करने की परंपरा रही है। जिसे बाद में वैज्ञानिकों ने भी तर्कसम्मत पाया। हमें उस परंपरा को पुन: जीवित करने की आवश्यकता है। युवाओं को चाहिए कि प्रतिदिन योग के साथ-साथ कुछ अन्य अभ्यास भी करें, अपनी जीवनशैली में परिवर्तन लाएं और समाज और राष्ट्र के विकास में भागीदारी बनें।

राज्यपाल ने इस अवसर पर क्लिन इंडिया अभियान की बुकलेट का विमोचन कर इसका शुभारंभ किया। यह अभियान 31 अक्टूबर तक चलेगा। फिटनेस के साथ ही स्वच्छता भी आवश्यक है। ''क्लिन इंडिया के अभियान में भी सबको बढ़ चढ़ कर भाग लेना चाहिए। युवाओं को अपने आसपास के वातावरण को साफ रखने का भी दायित्व लेना चाहिए। वातावरण में वायु प्रदूषण, प्लास्टिक प्रदूषण, जल प्रदूषण आदि से जलवायु परिवर्तन के रूप में नकारात्मक परिणाम हम सबके सामने हैं। इन सबकी ओर भी युवाओं का ध्यान जाना चाहिए और स्थानीय स्तर पर भी इसे रोकने के प्रयास करना चाहिए, फिर वह एक छोटा संकल्प भी क्यों ना हो कि 'आज से हम कपड़े या जूट का थैला ही बाजार ले जाएंगें, प्लास्टिक की थैली में सामान नहीं लाएंगें आदि-आदि। इस तरह के छोटे-छोटे कदमों से ही बड़े-बड़े असंभव लगने वाले लक्ष्य भी हासिल किए जा सकते है। उन्होंने कहा कि मुझे विश्वास है कि युवा इन अभियानों मेंं भाग लेकर इसे सफल बनाने का पूरा प्रयास करेंगे।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए नेहरू युवा केंद्र के निर्देशक श्री श्रीकांत पांडे ने बताया कि  यह स्वतंत्रता दौड़ प्रदेश के सभी जिलों में एवं 75 गांवों में भी आयोजित की जा रही है। फिट इंडिया फ्रीडम रन का उद्घाटन 13 अगस्त 2021 को किया गया और गांधी जयंती तक पूरे देश में कई स्थानों में यह दौड़ आयोजित की गई। उन्होंने बताया कि प्रदेश के बस्तर, सरगुजा के अंदरूनी क्षेत्रों में भी फ्रीडम रन आयोजित की गई और वहां युवाओं ने अति उत्साह से इसमें भाग लिया। युवाओं ने कोविड महामारी के दौरान जागरूकता लाने के लिए अनेक प्रयास किए। कार्यक्रम को डॉ. समरेन्द्र सिंह और श्री जॉब जकारिया ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर शासकीय दूधाधारी बजरंग स्नातकोत्तर महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. श्रद्धा गिरोलकर, नेहरू युवा केंद्र के श्री अर्पित तिवारी, कार्यकर्ता एवं एनएसएस के विद्यार्थी बड़ी संख्या में उपस्थित थे।