breaking news New

ब्रे​किंग : ढाई.ढाई साल का कार्यकाल वाला कोई फार्मूला नही..मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में सरकार कार्यकाल पूरा करेगी..स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव बोले,'चौबे अनुभवी राजनेता हैं, जैसा कह रहे हैं, सही ही होगा.'

ब्रे​किंग : ढाई.ढाई साल का कार्यकाल वाला कोई फार्मूला नही..मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में सरकार कार्यकाल पूरा करेगी..स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव बोले,'चौबे अनुभवी राजनेता हैं, जैसा कह रहे हैं, सही ही होगा.'

जनधारा समाचार
रायपुर. कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे ने कहा है कि छत्तीसगढ़ सरकार में मुख्यमंत्री का कार्यकाल, ढाई ढाई साल करने का ना तो कोई फार्मूला है, ना ऐसी कोई चर्चा है और ना ऐसा कुछ होने वाला है. इस पर स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंहदेव ने कहा कि चौबे कह रहे हैं तो सही ही होगा.


संवाददाता के एक सवाल के जवाब में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता, कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे ने कहा कि कांग्रेस की सरकार मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में अपना कार्यकाल पूरा करेगी. वे सरकार का मुख्य चेहरा हैं और उनके नेतृत्व में सरकार 20 साल से ज्यादा राज करेगी.

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंहदेव ने कहा कि चौबे अनुभवी राजनेता हैं, जैसा कह रहे हैं, सही ही होगा. हमें भी कहीं से कोई संकेत नही हैं.'

जानते चलें कि 17 जून को भूपेश बघेल सरकार अपना ढाई साल का कार्यकाल पूरा कर रही है. गुजरे विधानसभा चुनाव में जब कांग्रेस पार्टी को बहुमत मिला था तो सरकार बनाने और मुख्यमंत्री तय करने की जिम्मेदारी कांग्रेस आलाकमान पर आ पड़ी थी. तबके कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मुख्यमंत्री के सभी दावेदारों से चर्चा की थी लेकिन भूपेश बघेल और टी एस सिंहदेव दोनों मुख्यमंत्री बनने पर अड़े हुए थे. तब संभवत: यह रास्ता निकाला गया था कि दोनों ढाई.ढाई साल तक मुख्यमंत्री रहेंगे. हालांकि इसका कोई अधिकृत बयान या लिखित में कोई प्रमाण नही है.

लेकिन समय समय पर स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंहदेव के समर्थक और राजनीतिक हलकों में ढाई.ढाई साल तक मुख्यमंत्री वाला फार्मूला चर्चा में आता रहा है. सिंहदेव ने भी कभी इससे इंकार नही किया. सूत्रों के मुताबिक 8 जून को सिंहदेव नईदिल्ली जा सकते हैं.  


दूसरी ओर संकेत मिल रहे हैं कि कांग्रेस आलाकमान किसी बदलाव के मूड में नही है. गांधी परिवार के बीच मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपनी कार्यशैली और श्रेष्ठ परिणाम देने के दम पर गहरा विश्वास बना लिया है जबकि फैसला इन्हीं तीनों नेताओं को करना है.