breaking news New

श्रीमद भागवत महापुराण कथा श्रवण से अंत: करण हो जाता है शुद्ध : तिवारी

 श्रीमद भागवत महापुराण कथा श्रवण से अंत: करण हो जाता है शुद्ध : तिवारी


बेमेतरा।   शहर के समृद्धि विहार कालोनी में आयोजित श्रीमद भागवत महापुराण के समापन पर किसान नेता योगेश तिवारी शामिल हुए । उन्होंने कथावाचक पंडित श्री तिरलोक शास्त्री से आशीर्वाद प्राप्त कर बेमेतरा के ख़ुशहाली के लिए भगवान से प्रार्थना की ।

इस अवसर पर कथा वाचक का फूल मालाएं पहनाकर उनका स्वागत किया गया। साथ ही जय श्रीराधे-जय श्रीकृष्णा के जयकारे लगाए गए। । इस दौरान किसान नेता ने कहा कि जो जीव श्रीमद्भागवत कथा पुराण का श्रवण करता है । 

उसका अंत: करण शुद्ध हो जाता है।  सात दिनों की कथा सुनना तभी सार्थक माना जाता है, जब हम भगवान द्वारा बताए गए रास्तों पर चलते हैं। यह कथा मनुष्य को इस भवसागर से तार देने वाली है ।

उन्होंने कहा कि मनुष्य को अपने जीवन में सदैव गुरु बनाना चाहिए। परमपिता परमात्मा की बनाई हुई सभी वस्तुओं से हमें कुछ न कुछ सीखने को मिलता है। श्रीमद्भागवत पुराण हम सभी को जीवन यापन करना सिखाती है। मनुष्य को संतोषी होना चाहिए।