breaking news New

रिश्तों में राजनीति हावी, ऊंची पहुंच का लाभ

रिश्तों में राजनीति हावी, ऊंची पहुंच का लाभ

रायपुर।  पारिवारिक एवं सामाजिक रिश्तों में राजनीति नहीं आना चाहिए। विशेषकर ऐसे मामलों में जब मामला अंतरजातीय विवाह का हो। प्रेम विवाह के जरिए अपनी पत्नी एवं बच्ची से पृथक करने का घृणात्मक कार्य उनकी सास अंजना भट्टाचार्य जो महिला कांग्रेस प्रदेश की महासचिव के पद पर है के द्वारा किया गया है। उक्त आरोप इंटूक नेता निखिल सोनी निवासी राधास्वामी नगर रायपुर प्रदेश महासचिव यूथ इंटक ने प्रेस क्लब रायपुर में आयोजित पत्रकारवार्ता में लगाया।

पत्रकारवार्ता में सोनी ने बताया कि उनकी सास द्वारा भडक़ाए जाने पर पत्नी दीपा सोनी ने विगत चार मई को पत्रकारवार्ता लेकर न केवल उनपर वाहन चोरी का आरोप लगाया अपितु कोतवाली थाना जाकर फर्जी एफआईआर कराई। उक्त मामले में अंजना भट्टाचार्य के निकटतम सहयोगी मनोजराय भोम कांग्रेस शहर महामंत्री द्वारा एक ही समय में बलौदाबाजार एवं कोतवाली थाने में 17 जनवरी को लिखाई गई रिपोर्ट संपूर्ण मामले को फर्जी बनाकर उन्हें बेवजह फंसाए जाने की साजिश है। 

सोनी ने पत्रकारवार्ता में व्यथापूर्वक कहा कि अपनी पत्नी एवं बच्ची के साथ रहना चाहते हैं किंतु उनकी सास अंजना भट्टाचार्य द्वारा अवैधानिक हस्तक्षेप कर पद का दुरुपयोग करते हुए उनके दांपत्य जीवन को नरक बना दिया गया है।

सोनी के अनुसार अपनी पत्नी द्वारा उन्हें रास्ते में छेड़े जाने का आरोप बेबुनियाद है। उन्होंने कहा कि आज तक उन्होंने अपनी पत्नी को छुआ तक नहीं है मारपीट किये जाने की बात गलत है। अंजना भट्टाचार्य मोबाइल पर अश्लील गालीगलौज कर उन्हें दीपा को बड़े बड़े नेताओं के पास भेजकर उनका सर्वनाश करने की धमकी देती है।

उन्होंने उक्त मामले  में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मोहन मरकाम राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष डॉ. किरणमयी नायक से ज्ञापन सौंपकर उनकी पत्नी एवं मासूम दो वर्षीय बच्ची अंजना भट्टाचार्य के कब्जे से तत्काल वापस दिलाए जाने की मांग की है। उनके द्वारा की गई रिपोर्ट पर पुलिस प्रशासन द्वारा अब तक कार्रवाई नहीं की गई है।