रेड जोन में कोरबा, रायपुर समेत चार जिले ऑरेंज , बाकी 23 जिले ग्रीन

रेड जोन में कोरबा,  रायपुर समेत चार जिले ऑरेंज , बाकी 23 जिले ग्रीन


- प्रदेश में 4 जिलों से 9 संक्रमित थे, सभी की छुट्टी, अकेले कटघोरा के 22, इनमें 21 भर्ती

-अस्पतालों में 50-50 बेड कोरोना मरीजों के लिए रिजर्व करने के आदेश

 रायपुर।  कोरोना संक्रमण के चलतेलॉकडाउन काे अब 3 मई तक बढ़ा दिया गया है। हालांकि राज्य सरकार मॉडिफाइड लॉकडाउन लागू करने की बात कह चुकी है। ऐसे में 20 अप्रैल से यहां जरूरी शर्तों के साथछूट दी जाएगी। राज्य सरकार ने प्रदेश के सभी जिला अस्पतालों में काेरोनो संक्रमितों के लिए 50-50 बेड रिजर्व रखने के आदेश दिए हैं। कोरबा जिले के कटघोरा में मंगलवार को दो और पॉजिटिव मिले। इनमें एक महिला और एक पुरूष है। प्रदेश में अब तक 33 संक्रमित हो गए। इनमें 23 एक्टिव केस हैं। यह सभी कटघोरा कस्बे से ही हैं। प्रदेश के 9 जिले कोरोना संक्रमित हैं। इनमें कोरबा रेड जोन, रायपुर, बिलासपुर, राजनांदगांव और दुर्ग ऑरेंज में हैं। जबकि 23 जिलों में कोई संक्रमित नहीं मिलने पर वे ग्रीन जोन में शामिल किए गए हैं। केंद्र सरकार के निर्देशानुसार, सरकार सख्त नियमों के साथ छूट देगी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी स्पष्ट कर चुके हैं किप्रदेश मेंमनरेगा और निर्माण कार्य शुरू किए जाएंगे। रेड जोन संपूर्ण लाॅकडाउन रहेगा : कोरबा की कटघोरा तहसील में कोरोना के 23 पॉजिटिव मरीज मिले हैं। यहां संपूर्ण लाॅकडाउन रहेगा। स्कूल-कॉलेज, बाजार सब बंद रहेंगे। कटघोरा के लिए आईएएस अफसर सीआर प्रसन्ना के नेतृत्व में 4 सदस्यीय विशेष टीम आईएएस विलास भोसकर, उप निदेशक स्वास्थ्य आसिम खान और डॉ. सुंदरानी की गठित की गई है। अब हाई रिस्क वाले लोगों का टेस्ट प्राथमिकता से होगा। कोराेना का हॉटस्पाट बने कोरबा के कटघाेरा में प्रशासन पूरी तरह सख्त है। इसके बावजूद लोग बाहर निकल रहे हैं। पुलिस सड़क पर ही उठक-बैठक करवा रही है। ऑरेंज जोन केस मिले, पर सब ठीक : रायपुर समेत दुर्ग, राजनांदगांव, बिलासपुर में सख्ती में ढील दी जाएगी। यहां पर रिपेयरिंग शॉप औरहोम सर्विस देने वाले सेवाओंको शुरू किया जाएगा। रायपुर में पांच केस पाए गए थे जबकि दुर्ग, राजनांदगांव औरबिलासपुर में एक-एक केस पाए गए थे। यहां के मरीज स्वस्थ होकर घरों में क्वारैंटाइन हैं। कोरोना संक्रमण के चलते 21 दिन के लॉकडाउन का मंगलवार को अंतिम दिन है। रायपुर ऑरेंज जोन में है।रायपुर में कुछ छोटे कारोबारियों ने अपनी दुकानें खोलनी शुरू कर दी है। ग्रीन जोन में रोजगार शुरू होंगे : प्रदेश के 23 जिलों में चाय, पान, सैलून, पार्लर, रिपेयरिंग औरछोटे-छोटे रेस्टारेंट खोले जाने की संभावना है। इसके अलावा जितने भी सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग हैं, उसे खोला जाएगा, लेकिन फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए कहा गया है। ग्रामीण रोजगार के सभी कार्य, सड़क, पुल, पुलियों का निर्माण, स्टील फर्नीचर, प्लास्टिक, छोटी राइस मिलें शुरू होंगी। गरियाबंद जिले में एक भी कोरोना संक्रमण का केस सामने नहीं आया है। हालांकि ओडिशा से सटी सीमा होने के कारण यहां भी सख्ती है। पुलिसकर्मी बाहर निकल रहे लोगों को हाथ जोड़कर समझा रहे हैं। हाईकोर्ट समेत प्रदेश के सभी न्यायालय 3 मई तक बंद रहेंगे देश में लॉकडाउन को 3 मई तक के लिए बढ़ा दिया गया है। ऐसे में बिलासपुर हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस पीआर रामचंद्र मेनन के निर्देश पर रजिस्टार जनरल नीलम चांद सांखला ने हाईकोर्ट, जिला न्यायालय, श्रम न्यायालय समेत प्रदेश की सभी अदालतों को 3 मई तक बंद रखने के लिए कहा है। एम्स में सिर्फ कटघोरा के मरीज, 225 की रिपोर्ट बाकी कोरबा के कटघोरा में नए मरीज नहीं मिलते तो छत्तीसगढ़ कोरोना फ्री राज्य होता। प्रदेश में कोरोना के 33 मरीज मिले हैं, जिनमें 24 केवल कटघोरा औरएक कोरबा से है। कटघोरा में अब तक 500 से ज्यादा सैंपलों की जांच की जा चुकी है,जबकि 225 सैंपलों की रिपोर्ट आना बाकी है। कोरबा में भी 85 सैंपलों की जांच की जा चुकी है। प्रदेश का पहला केस 18 मार्च को आया था। 4377 संदिग्धों की जांच में 3969 निगेटिव प्रदेश में फरवरी से अब तक 4377 संदिग्ध लोगों की जांच की गई है। इनमें 3969 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव है। जबकि कुल मरीजों की संख्या 31 है। 377 सैंपल की जांच चल रही है। सबसे ज्यादा संदिग्ध रायपुर में मिले, लेकिन मरीज कम रहे। रायपुर संभाग में 1448 में 1399 निगेटिव, बिलासपुर संभाग में 1131 में 875, दुर्ग में 905 में 841, सरगुजा में 237 में 227 जबकि बस्तर में 359 में 334 निगेटिव है। रायपुर: सोसायटी में गपशप-पार्टी, मॉर्निंग वाॅक, क्रिकेट खेलना भी 144 का उल्लंघन रायपुर में लॉकडाउन के चलते लोगों के बाहर निकलने पर रोक है। सोसाइटी में रहने वाले लोग पार्टी कर रहे हैं, क्रिकेट खेल रहे हैं। पुलिस ने पोस्टर चस्पा कर बताया कि इसे भी धारा-144 का उल्लंघन माना जाएगा। लॉकडाउन के चलते घरों से बाहर निकलने पर प्रतिबंध है, लेकिन सोसायटी की बाउंड्री में लोग ग्रुप में बैठकर गपशप कर रहे हैं। पार्टियां हुई हैं, क्रिकेट हो रहा है, मॉर्निंग-ईवनिंग वाॅक भी बंद नहीं है। ऐसे में पुलिस ने नोटिस चस्पा कर दिया है कि इसे धारा-144 का उल्लंघन माना जाएगा और कार्रवाई होगी। घरेलू कर्मचारियों को छुट्टी देने और बाहरी लोगों के प्रवेश पर रोक लगाने की भी बात कही गई है। बिलासपुर :14 दिनों से कोई संक्रमित नहीं बिलासपुर में जनधन खाते से रुपए निकालने के लिए लोगों की भीड़ जुट रही है। लोगों से बैंक बार-बार अपील कर रहे हैं कि अफवाहों पर ध्यान न दें। जो रुपए खाते में आए हैं, वे वापस नहीं जाएंगे। देश के 25 जिलों में छत्तीसगढ़ का बिलासपुर, राजनांदगांव और दुर्ग भी है, जहां 14 दिनों में एक भी संक्रमित केस नहीं मिला। सिम्स में तीन कोरोना संदिग्ध भर्ती हैं। 

chandra shekhar