breaking news New

संघ की आगामी कार्ययोजना में राष्ट्र पुनर्निर्माण के अनेकों विषयों पर प्राथमिकता - आरएसएस

संघ की आगामी कार्ययोजना में राष्ट्र पुनर्निर्माण के अनेकों विषयों पर प्राथमिकता - आरएसएस


राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का स्थापना दिवस मनाया गया

दुर्ग। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के 96 वें स्थापना दिवस और विजयादशमी कार्यक्रम पुराना गंज मंडी दुर्ग में संपन्न हुआ। कार्यक्रम में सैकड़ों स्वयंसेवकों ने कदम से कदम मिलाकर नगर में पथ संचलन किया तत्पश्चात पुराना गंज मंडी में प्रकटोत्सव के द्वारा दंड चालन, नि:युद्ध, समता, व्यायाम और योग का प्रदर्शन स्वयंसेवकों द्वारा किया गया। 

कार्यक्रम के मुख्य वक्ता विभाग कार्यवाह पूर्णेन्द्र सिन्हा (कवर्धा) ने स्वयंसेवकों से कहा कि संघ का वर्तमान विराट स्वरूप 96 वर्षों की कड़ी मेहनत और तपस्या का परिणाम है, 96 वर्ष पूर्व डॉ. हेडगेवार ने जिसका बीजारोपण किया था, वह असंख्य कार्यकर्ताओं की त्याग तपस्या के परिणाम स्वरूप आज विशाल वट वृक्ष के रूप में हम सभी के समक्ष है। संघ एक ओर हिंदू समाज जागरण के कार्य में सतत सक्रिय है तो दूसरी ओर अपने चिंतन और विचारों से इस देश में व्याप्त चुनौतियों के समाधान का मार्ग निरंतर सुझाता आ रहा है। अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण और कश्मीर में अनुच्छेद 370 की समाप्ति जैसे कार्य राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के दृष्टि पटल पर प्राथमिकता में रहे हैं, जिसका यह सुखद परिणाम है कि आज अयोध्या में श्री राम मंदिर निर्माण कार्य प्रगति में है और अनुच्छेद 370 समाप्त हो चुका है। संघ की आगामी कार्ययोजना में राष्ट्र पुनर्निर्माण के अनेकों विषय प्राथमिकता से है।

 कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे समाजसेवी डॉ सत्येंद्र ज्ञानी ने स्वयंसेवकों को नि:स्वार्थ भाव से कार्य करने की प्रेरणा दी। 

कार्यक्रम में जिला संघचालक डॉ. चंद्रभूषण देवांगन विशेष रुप से उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन नगर कार्यवाह महेश यादव ने किया। 

पथ संचलन पुराना गंज मंडी से प्रारंभ होकर ‌नदी चौक, पुराना शनि मंदिर गंजपारा, सारथी पारा, चण्डी मंदिर चौक से तमेर पारा, गुजराती धर्मशाला, फरिश्ता काम्प्लेक्स होते हुए सरदार पटेल चौक से पुनः पुराना गंज मंडी में पहुंचकर समाप्त हुआ।