breaking news New

गौवंश तस्करों ने वनरक्षक 50 वर्षीय सखाराम मंडलोई की पीट-पीटकर हत्या की

गौवंश तस्करों ने वनरक्षक 50 वर्षीय सखाराम मंडलोई की पीट-पीटकर हत्या की

बड़वानी। मध्यप्रदेश के बड़वानी जिले के निवाली थाना क्षेत्र में आज गौवंश तस्करों ने उन्हें रोके जाने पर एक वनरक्षक की पीट-पीटकर हत्या कर दी।
बड़वानी के पुलिस अधीक्षक निमिष अग्रवाल ने बताया कि निवाली थाना क्षेत्र में आज दोपहर वनरक्षक 50 वर्षीय सखाराम मंडलोई की गौ वंश तस्करों ने पीट-पीटकर हत्या कर दी।
उन्होंने बताया कि कुछ गौवंश तस्कर 6 बैलों को रातडिया माल से महाराष्ट्र के क़त्ल खानों की ओर ले जा रहे थे। इस दौरान सिदड़ी के समीप वनरक्षक सखाराम मंडलोई ने उन्हें रोकने की कोशिश की, जिस पर आरोपियों ने उस पर डंडो से हमला बोल दिया। जिसके चलते उसकी मौके पर ही मृत्यु हो गई।
उन्होंने बताया कि अधिकांश आरोपी गौवंश को पैदल ले जाने वाले कैरियर थे, जो एक व्यक्ति के लिए काम कर रहे थे।
राजपुर के अनुविभागीय अधिकारी (पुलिस) पदम सिंह बघेल ने बताया कि आरोपियों की शिनाख्त शाहरुख मंसूरी ,अरबाज मंसूरी, निवासी सिलावद, शंकर घटया उसके दो पुत्र दिनेश और ताराचंद तथा पत्नी सीताबाई के रूप में हुई है।
उन्होंने बताया कि अरबाज मंसूरी और सीता बाई को हिरासत में ले लिया गया है।
उन्होंने बताया कि मौके से शाहरुख की दुपहिया वाहन भी बरामद की गई है। शाहरुख मौके से फरार होने में सफल हो गया।
एसडीओपी बघेल ने बताया कि ये व्यक्ति शाहरुख के लिए काम करते थे तथा बैल महाराष्ट्र के क़त्ल खानों तक पहुंचाते थे।
उल्लेखनीय है कि बड़वानी के पुलिस अधीक्षक ने गौवंश तस्करी की में संलिप्तता के चलते निवाली थाना पुलिस के तत्कालीन प्रभारी तथा प्रधान आरक्षक को कुछ दिन पूर्व निलंबित कर जांच संस्थित की थी।
बड़वानी के वन मंडलाधिकारी डॉ अनुपम सहाय ने बताया कि उक्त दुर्भाग्यपूर्ण घटना की जांच पुलिस कर रही है। उन्होंने बताया कि वनरक्षक सखाराम मंडलोई सुलगांव बीट का प्रभारी था। आज शाम शव के पोस्टमार्टम कराने के उपरांत अंतिम संस्कार कराया गया है।