breaking news New

जल की कीमत का अहसास दिलाने 290 किमी की दूरी नापेंगे अपने पैरों से तीन धावक

जल की कीमत का अहसास दिलाने 290 किमी की दूरी नापेंगे अपने पैरों से तीन धावक

लखनऊ।  जीवन के लिये जरूरी जल की कीमत का अहसास आमजन को कराने के मकसद के साथ तीन धावक कालीन नगरी भदोही से उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के बीच 290 किमी की दूरी अपने पैरों से नापेंगे और इस दौरान नुक्कड़ नाटकों के जरिये लोगों को जल संवर्धन के प्रति जागरूक करेंगे।

जल सरंक्षण के प्रति जागरूकता का संदेश देने के लिए गैर सरकारी संस्था वाटररएड इंडिया द्वारा आयोजित जल मैराथन बुधवार को पूर्वांचल के भदोही से शुरू हाेगी जो 22 मार्च को विश्व जल दिवस के मौके पर लखनऊ में पूरी होगी।कुल 290 किलोमीटर की ये मैराथन जानेमाने राष्ट्रीय धावक नायब बिंद, साइकिलिस्ट मुरलीधर एवं सुरेंद्र कुमार पूरा करेंगे।

जल मैराथन अपने लखनऊ तक के सफर में प्रयागराज,, प्रतापगढ़,, रायबरेली होते हुए गुजरेगी जिसका उद्देश्य लोगों में जल संवर्धन के प्रति जागरूकता लाना तथा दैनिक कार्यों में जल का बुद्धिमत्ता पूर्ण उपयोग सुनिश्चित करने के लिए प्रोत्साहित करना है। मैराथन के दौरान 13 स्थानों पर लोगों को नुक्कड़ नाटक के माध्यम से बताया जायेगा कि वर्षा जल संचयन एवं कुआं तालाबों को रिचार्ज के रूप में किस प्रकार से उपयोग मे लाया जाये।

इसके साथ नेहरू युवा केंद्र संगठन के द्वारा कैच द रेन कैंपेन के विषय में तथा सेंट्रल ग्राउंड वॉटर बोर्ड द्वारा लोगों को भूगर्भ जल की स्थिति पर आंकड़ों के माध्यम से जागरूक किया जाएगा। कार्यक्रम में नेहरू युवा केंद्र संगठन, सेंट्रल ग्राउंड वॉटर बोर्ड के साथ डिजिटल मीडिया पार्टनर के रूप में जुबिली पोस्ट की सहभागिता है।

भदोही में अभोली ब्लॉक के कनकपुर गांव निवासी कालीन बुनकर धर्मराज बिन्द के बेटे नायब बिंद ने हाल ही में गुजरात मे आयोजित मैराथन मे भी सातवां स्थान प्राप्त किया था। इससे पहले उन्होने गोवा मैराथन में प्रथम स्थान हासिल किया था। 2011 में राज्य स्तरीय सब जूनियर बालक बालिका वर्ग एथलेटिक्स प्रतियोगिता और यूपी स्टेट एनुअल एथेलेटिक्स चैम्पियनशिप में वह प्रदेश का प्रतिनिधित्व कर चुके है। 2015 में उन्होने जौनपुर के वीर बहादुर सिंह पूर्वाचंल विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित क्रासकंट्री दौर में प्रतिभाग किया था जबकि 2018 में नेहरू युवा केन्द्र संगठन द्वारा आयोजित 1000 किलोमीटर की स्वच्छता मैराथन में उन्होने भदोही से दिल्ली तक स्वच्छता संदेश का प्रचार प्रसार किया था।