breaking news New

चंद घंटों में सात डकैत गिरफ्तार, अंजोरा पुलिस को मिली बड़ी सफलता, आरोपियों में 3 नाबालिग शामिल

 चंद घंटों में सात डकैत गिरफ्तार, अंजोरा पुलिस को मिली बड़ी सफलता, आरोपियों में 3 नाबालिग शामिल

लूटी हुई मोबाईल और नगदी रकम को पुलिस ने किया बरामद, 

दुर्ग । अंजोरा पुलिस को मिली बड़ी सफलता, सात डकैत चंद घंटे में गिरफ्तार, लूटी हुई मोबाईल और नगदी रकम को पुलिस ने किया बरामद गिरफ्तार आरोपियों में 3 नाबालिग हैं। पुलिस ने बताया कि प्रार्थी महेश कुमार कुमावत पिता स्व. भंवरलाल कुमावत 25 वर्ष निवासी ग्राम पल्साना थाना रनौली जिला सिकर राजस्थान हाल एमएसएमई इंजीनियरिंग कालेज रसमड़ा चौकी अंजोरा जिला दुर्ग (छ.ग.) ने 6 जनवरी 2021 को पुलिस चौकी अंजोरा में रिपोर्ट दर्ज कराया कि 6 जनवरी 2021 के शाम करीब 6:30 बजे रसमड़ा स्थित हिताची एटीएम से 3 हजार रूपये निकालकर राशन, सब्जी खरीदकर अकेले अपनी कंपनी की ओर जा रहा था कि रास्ते में रेवा दुकान के पास बाजार चौक रसमड़ा के पास 6-7 लडक़ो द्वारा इन्हे रोककर चारों तरफ  से घेरकर हाथ मुक्का से मारपीट कर इनके दोनो आखों को हाथ से बंद कर डरा धमकाकर इनके जेब में रखे पर्स सहित एसबीआई बैंक का एक एटीएम कार्ड, आधार कार्ड तथा नगदी लगभग 10 हजार रूपए व सैमसंग कंपनी के काले रंग के मोबाईल कीमती लगभग 7 हजार रूपए कुल 17 हजार रूपए को छीनकर ले भाग गए है कि रिपोर्ट पर अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। 

उक्त घटना की सूचना तत्काल वरिष्ठ अधिकारियों एवं कंट्रोल रूम भिलाई को सूचना दी गई जिससे पुलिस अधीक्षक दुर्ग के निर्देशन में तथा अति.पुलिस अधीक्षक (शहर) व नगर पुलिस अधीक्षक दुर्ग के मार्गदर्शन में चौकी प्रभारी अंजोरा सउनि देवशरण सिंह के नेतृतव में चौकी अंजोरा के पुलिस बल के साथ घटना स्थल की व ग्राम रसमडा की नाकेबंदी की गई व प्रार्थी के निशादेही पर अज्ञात डकैतों की सर्वप्रथम रसमड़ा बस्ती की ओर भागने से गांव में तलाशी अभियान प्रारंभ कर मुखबीरों व ग्रामीणों से जानकारी ली गई घटना के समय 6-7 लडको के रसमडा बस्ती की ओर भागने की बात पता चलने पर संदेही, दीपक यादव, हर्ष यादव टिकेश यादव व लोकेश साह को हिरासत में लेकर पूछताछ किया गया जिनके द्वारा उक्त अपराध घटित करना कबूल किए जिनके साथ तीन अपचारी बालकों को भी घटना में शामिल होना बताए  जिनके कब्जे से लूटे हुए नगदी व मोबाईल को बरामद कर जप्त किया गया व आरोपियों तथा अपचारियों को विधिवत गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया है। उपरोक्त कार्य में पुलिस चौकी अंजोरा के समस्त स्टाफ  की सराहनीय भूमिका रही।