breaking news New

दिल्ली हिंसा : 200 उपद्रवी पुलिस की हिरासत में, मामले की जांच करेगी क्राइम ब्रांच, अब तक 300 पुलिसकर्मी घायल

दिल्ली हिंसा : 200 उपद्रवी पुलिस की हिरासत में, मामले की जांच करेगी क्राइम ब्रांच, अब तक 300 पुलिसकर्मी घायल

नई दिल्ली. देश में गणतंत्र दिवस के दिन राजधानी दिल्ली में किसानों के ट्रैक्टर रैली के दौरान कई जगहों पर हिंसा हुई. इस दौरान कई किसान और पुलिसकर्मी जख्मी हो गए. मोदी सरकार के तीन नये कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले दो महीनों से प्रदर्शन कर रहे किसानों ने 26 जनवरी ट्रैक्टर रैली निकालने की घोषणा की थी.

दिल्ली पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस ने कल शहर में किसान ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा के सिलसिले में 200 लोगों को हिरासत में लिया. अखिल भारतीय किसान सभा के महासचिव हन्नान मोल्लाह ने कहा कि किसानों के आंदोलन को बदनाम करने की कोशिश लगातार चल रही थी. हमें डर था कि कोई साजिश कामयाब न हो जाए मगर आखिर में साजिश कामयाब हो गई. लाल किले में बिना किसी सांठगांठ के कोई नहीं पहुंच सकता. इसके लिए किसानों को बदनाम करना ठीक नहीं है.

दिल्ली पुलिस ने कहा है कि किसान रैली में हुई हिंसा में अब तक 300 पुलिस कर्मी घायल हुए हैं. भारत किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने कहा कि जिन लोगों ने लाल किले में हिंसा और फहराए झंडे बनाए, उन्हें अपने कामों के लिए भुगतान करना होगा. पिछले दो महीने से एक समुदाय विशेष के खिलाफ साजिश चल रही है. यह सिखों का नहीं, बल्कि किसानों का आंदोलन है. किसानों की ट्रैक्टर परेड में हुई हिंसा के मामले में अब तक 22 एफआईआर दर्ज की गयी है.