breaking news New

डॉ. गंभीर एवं उनके सहयोगी डॉक्टर क्षेत्रवासियों को दे रहे है सलाह और मदद

डॉ. गंभीर एवं उनके सहयोगी डॉक्टर क्षेत्रवासियों को दे रहे है सलाह और मदद


कोरोना पर चर्चा परिचर्चा में ऑनलाइन जुड़कर कर रहे मदद


रायपुर विधायक बृजमोहन अग्रवाल द्वारा शुरू किए गए निःशुल्क कोविड सेंटर में भी क्षेत्रवासियों को मिल रहा इलाज

गौरेला/रायपुर, 14 मई। कोविड के संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए जिले के लोकप्रिय समाजसेवी एवं रिम्स मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ. गंभीर सिंह ने क्षेत्र के लोगों तक डिजिटल प्लेटफॉर्म के माध्यम से पहुंचकर उपचार एवं होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों को उचित सलाह प्रदान कर रहें हैं। प्रतिदिन 7 बजे से भाजपा के प्रत्याशी रहे डॉ गंभीर सिंह, जीपीएम जिला के भाजपा संगठन प्रभारी डॉ जे.पी. शर्मा,भाजपा चिकित्सा प्रकोष्ठ के डॉ नरेन्द्र पाण्डेय,भाजपा चिकित्सा प्रकोष्ठ के पूर्व प्रदेश संयोजक एवं रायपुर के प्रसिद्ध चिकित्सक डॉ अखिलेश चरण दुबे, डॉ शैलेश खंडेलवाल, डॉ अशोक त्रिपाठी, पिनाकी हॉस्पिटल गौरेला के डॉ पवन सिंह वेबर्स पर उपस्थित होकर लोगों की समस्याओं का समाधान करने में जुटे हैं।


नवगठित जिले में जो लोग गंभीर सिंह से सम्पर्क करते है उनकी पूरी मदद की जाती है फ़ोन अथवा वेबर्स के माध्यम से क्षेत्र के लोग सीधे संपर्क कर रहे हैं और अपनी समस्याओं को लेकर लगातार चर्चा किए, जिस पर उपस्थित चिकित्सकों द्वारा लोगों को जागरूक करने के साथ ही निर्देश दिए, लोगों द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन किए, जिसके फलस्वरूप सप्ताह दस दिनों में नतीजे सकारात्मक प्राप्त हो रहे। साथ ही कोरोना एवं वैक्सीन से सम्बंधित कई भ्रांतियों को दूर करने का प्रयास किए।

कोविड-19 पर ग्रामीण, लैब टेक्नीशियन और पैरामेडिकल स्टाफ आदि ले रहे डॉ गंभीर सिंह से परामर्श, लोगों का बढ़ा रूझान, कई को हो रहा फायदा

ज्ञात हो कि वर्चुअल मीटिंग में अब धीरे धीरे ग्रामीणों की संख्या बढ़ती जा रही है, वहीं कई चिकित्सक, लैब टेक्नीशियन और पैरामेडिकल स्टाफ भी चर्चा में हिस्सा ले रहे, जिन्हें शंकाओं का समाधान प्राप्त हो रहा है। परिचर्चा में अधिकांश ग्रामीणों द्वारा अफवाहों से सम्बन्धित प्रश्नों को अधिक पूछा जा रहा है, विशेषकर कोरोना वैक्सीन और टीकाकरण को लेकर कई तरह की भ्रांतियां फैली हुई है, जिसको लेकर डॉ गंभीर सिंह ने उपयुक्त सलाह देते हुए टीकाकरण कराने को अधिक तरजीह दी।कुछ लोगों ने कोविड जांच, ऑक्सीजन लेवल, बुखार आदि के संबंध में जानकारी चाही गई, जिसके संबंध में डॉ जे.पी. शर्मा और डॉ अखिलेश दुबे ने विस्तृत रूप से जानकारी को साझा की, जिससे अधिकांश लोग संतुष्ट हुए। लैब टेक्नीशियन और पैरामेडिकल स्टाफ द्वारा भी रक्त जांच, हीमोग्लोबिन, आरटीपीसीआर, ट्रू नॉट आदि के संबंध में कई प्रश्न किए, जिसके संबंध में भाजपा चिकित्सा प्रकोष्ठ के डॉ नरेंद्र पाण्डेय और डॉ शैलेष खंडेलवाल ने प्रमाणों के साथ उत्तर दिया, जिससे कई शंकाओं का समाधान हुआ। जीपीएम जिला के भाजपा संगठन प्रभारी डॉ जे.पी. शर्मा, भाजपा चिकित्सा प्रकोष्ठ के पूर्व प्रदेश संयोजक एवं रायपुर के प्रसिद्ध चिकित्सक डॉ अशोक त्रिपाठी, डॉ अखिलेश चरण दुबे, द्वारा भी लोगों के प्रश्नों का उत्तर देने के लिए उपस्थित हो रहे।

ग्रामीणजनों में यह भ्रांतियां है कि टीकाकरण लगाये जाने से बुखार आता है लेकिन टीकाकरण होने के बाद बुखार आना एक सामान्य लक्षण है और बुखार भी सभी व्यक्तियों को नहीं आते केवल कुछ लोग ही इससे प्रभावित होते है। 

कुछ लोगों को भ्रांतियां है कि टीकाकरण कराये जाने से मृत्यु हो जाती है लेकिन टीकाकरण होने के पश्चात् टीकाकरण की वजह से किसी भी व्यक्ति की मृत्यु नहीं होती बल्कि किसी की मृत्यु होने का कारण संबंधित व्यक्ति का किसी गंभीर बिमारी से पूर्व ग्रसित होना या समय पर चिकित्सक से ईलाज न कराना होता है। कुछ लोगों की भ्रांतियां है कि टीकाकरण से बांझपन, नपुसंकता आती है। यह पूरी तरह से अफवाह है। प्रतिदिन मीट में लगभग 50 से अधिक लोगों ने भाग लेते है। जिसमें भाजपा के कार्यकर्ताओं के अलावा मरीज के परिजन और पैरामेडिकल के छात्रों ने भी हिस्सा लिया कार्यक्रम का संचालन भाजपा चिकित्सा प्रकोष्ठ के डॉ नरेन्द्र पाण्डेय ने किया। मीट प्रतिदिन शाम 7 बजे से शुरू होती है, जिसमें कई विशेषज्ञ चिकित्सक उपस्थित हो रहे हैं। बता दें कि कोविड-19 (कोरोना) पर प्रतिदिन शाम 07 बजे विशेष परिचर्चा कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है, जिसमें कई वरिष्ठ चिकित्सक, जाने माने समाजसेवी गूगल मीट एप्प पर उपस्थित होकर बेबाकी से अपनी राय/सलाह/सुझाव देते हैं। वहीं परिचर्चा एवं जानकारी के लिए डॉ नरेन्द्र पाण्डेय, मोबाइल : 8817194979, से सम्पर्क किया जा सकता है। बता दें कि कोरोना महामारी के चलते देश समेत पूरे प्रदेश में स्थिति भयावह होती जा रही है। वहीं जीपीएम जिले में लगातार कोविड पॉजिटिव मरीजों के मिलने का सिलसिला बरकरार है।आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र होने के कारण महामारी के इस संकट काल में भी स्वास्थ्य व्यवस्था लचर है और कई सारी सुविधाओं का अभाव है। ऐसे में जिले के लोकप्रिय समाजसेवी डॉ गंभीर सिंह कोरोना काल के प्रारंभ से ही क्षेत्रवासियों के स्वास्थ्य और सुरक्षा को लेकर सजगता और सतर्कता के साथ अपनी सेवाएं देते आ रहें हैं। भाजपा चिकित्सा प्रकोष्ठ के डॉ नरेन्द्र पाण्डेय ने बताया कि रिम्स मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ गंभीर सिंह के नेतृत्व में रायपुर के वरिष्ठ चिकित्सक मोबाइल द्वारा मरीजों से वर्चुअली जुड़े रहकर, साथ ही विभिन्न बीमारियों के इलाज के विशेषज्ञ भी समय समय पर अपनी सलाह ऑनलाइन दे रहें हैं!