breaking news New

औचक निरीक्षण कर कोरिया पुलिस ने रोका बाल-विवाह

 औचक निरीक्षण कर कोरिया पुलिस ने रोका बाल-विवाह

कोरिया।  महिला बाल विकास विभाग  सोनहत एवं जिला बाल संरक्षण इकाई पुलिस विभाग की संयुक्त टीम के द्वारा विकासखंड सोनहत के ग्राम सुंदरपुर पतरा पारा में बाल विवाह के प्रकरण को संज्ञान में लेकर मौके में पहुंचकर विवाह होने से रोके जाने में सफलता प्राप्त की है।  जानकारी प्राप्त होते ही टीम द्वारा औचक निरीक्षण किया गया !

निरीक्षण के दौरान बालक की निर्धारित आयु 18 वर्ष से कम होने के कारण टीम द्वारा परिजनों को समझाइश देकर विवाह रोका गया इस मौके पर जिला बाल संरक्षण अधिकारी सेक्टर सुपरवाइज़र विशेष किशोर पुलिस  जिला संरक्षण इकाई के कर्मचारी पर्यवेक्षक उपस्थित थे महिला एवं बाल विकास विभाग अधिकारी ने बताया कि बाल विवाह केवल एक सामाजिक बुराई ही नहीं अपितु कानूनन अपराध भी है बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम 2006 के अंतर्गत बाल विवाह करने वाले वर-वधू के माता-पिता सगे संबंधी बराती एवं विवाह कराने वाले पुरोहित पर भी कानूनी कार्यवाही की जा सकती है  इसके अतिरिक्त यदि वर या कन्या बाल विवाह पश्चात विवाह को स्वीकार नहीं करते हैं तो  बालिग होने के पश्चात विवाह को शून्य घोषित करने हेतु आवेदन कर सकते हैं !