breaking news New

पढ़ाई तुंहर दुवार की नायक बनी व्याख्याता शशि पाठक, विकासखण्ड के साथ साथ जिले का नाम भी किया रौशन

पढ़ाई तुंहर दुवार की नायक बनी व्याख्याता शशि पाठक, विकासखण्ड के साथ साथ जिले का नाम भी किया रौशन

सूरजपुर।   पढ़ई तुंहर दुआर कार्यक्रम के तहत् छत्तीसगढ़ शासन स्कूल शिक्षा विभाग की सी जी पोर्टल पर हमारे नायक कालम हेतु जिला सूरजपुर के प्रतापपुर विकासखण्ड में शा0 कन्या उच्चत्तर माध्यमिक विद्यालय (टी) में पदस्थ व्याख्याता शशि पाठक का चयन किया गया। सीजी पोर्टल में नायक के रूप में चयनित व्याख्याता जिले में छठवीं और विकासखंड में पहले स्थान पर है। कोरोना वैश्विक महामारी के कारण सारा विश्व आज परेशान है और छत्तीसगढ़ राज्य भी इससे अछूता नहीं है। इस वायरस के बढ़ते प्रकोप से छात्र-छात्राओं की सुरक्षा एवं स्वास्थ्यगत कारणों से सारे स्कूल और शिक्षण संस्थान पूरी तरह बंद हैं। छत्तीसगढ़ राज्य में स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा विषम परिस्थितियों में बच्चों को पूर्णता सुरक्षित रखते हुए उनकी पढ़ाई अनवरत सुचारू रूप से जारी रखने के उद्देश्य से पढ़ाई तुंहर दुआर कार्यक्रम शुरू किया गया ।

चर्चा के दौरान व्याख्याता शशि पाठक ने बताया कि पढ़ाई तुंहर दुवार के सफल क्रियान्वयन और छात्र/शिक्षकों के प्रोत्साहन हेतु प्रतिदिन एक एक बच्चे और शिक्षकों का चयन नायक के रूप में किया जाता है इसी तारतम्य में आज शिक्षक के जगह शशि पाठक का चयन नायक के लिए किया गया।

व्याख्याता ने बताया कोविड 19 के दौरान मार्च से ही  व्हाट्सएप समूह बनाकर नोट्स और यूट्यूब वीडियो द्वारा 10वीं 12वीं के छात्रों को पढ़ाई से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा था । पाठक ने जून से लगातार वर्चुअल क्लास लेते हुए अब तक 347 ऑनलाइन क्लास में लगभग 16000छात्रोंको लाभान्वित किया सका है। पोर्टल से न जुड़ पाने वाले छात्रों की मदद के साथ साथ मोबाइल विहीन छात्रों को सामूहिक मोबाइल द्वारा ऑनलाइन क्लास से जोड़ने व कीपैड मोबाइल वाले 

छात्रों के लिए विद्यार्थी सहायता केंद्र स्थापित कर मिस्ड कॉल पर शंका सामाधन की पहल की गई जिसमें  लगभग 200 छात्र लाभान्वित हो चुके हैं। विभिन्न राज्यस्तरीय समुहों में जुड़कर विद्यार्थियों को ऑनलाइन क्लास से जोड़ने का प्रयास किया जाता रहा है।जुलाई से लगातार गणितीय क्विज व अक्टूबर से प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी हेतु निरन्तर कार्य किया जा रहा है।सी जी पोर्टल पर पाठ्यवस्तु भी अपलोड किए जा चुके हैं। प्रत्येक रविवार को पाठ्येतर क्रियाओं के अंतर्गत मन की बात, तात्कालिक भाषण प्रतियोगिता, गांधी जयंती पर प्रतियोगिता, नई शिक्षा नीति के तहत लेखन कौशल हेतु वेबिनार ,कोरोना जागरूकता हेतु वेबिनार व नुक्कड़ नाटक जैसे आयोजन भी कराए गए हैं।लक्ष्यवेध के थीम पर कार्य करते हुए  लक्ष्यवेध टीम से प्रेरित होकर छात्रों को स्वध्याय के लिए प्रेरित करने के साथ साथ प्रोत्साहन हेतु स्टार ऑफ द डे देने की पहल की गई है।

इन कार्यों के अलावा अगस्त माह से लगातार विद्यालयीन प्रवेश कार्य निःशुल्क पुस्तक वितरण छात्रवृत्ति में भी सक्रिय योगदान दिया जा रहा है।

अपने कार्यों और छात्रों के  प्रति निष्ठा व पूर्ण समर्पण भाव से व्याख्याता द्वारा निःशुल्क सिलाई प्रशिक्षण ,प्लास्टिक मुक्त भारत , कक्षा कक्ष में सेमिनार व क्विज का आयोजन, इंस्पायर्ड अवार्ड ,कबाड़ से जुगाड़ , सांस्कृतिक कार्यक्रमों व अन्य विद्यालयीन गतिविधियों में सक्रिय सहभागिता दी जाती रही है।

व्याख्याता की इस उपलब्धि पर बीईओ जनार्दन सिंह एबीईओ मुन्नुसिंह ध्रुव ,प्राचार्य भरत नाग , विद्यालयीन स्टाफ ,विकासखंड व जिले के शिक्षकों ने हर्ष व्यक्त करते हुए शुभकामनाएं दीं।