breaking news New

ब्रेकिंग : विधायक बृजमोहन अग्रवाल की मंत्री शिव डहरिया को चुनौती..प्रमाण रखकर आरोप लगायें..महंत ने सिंहदेव से कहा, 'आप चाय नही पिलाते..सिंहदेव का जवाब, 'बात चाय से ऊपर की है..मंत्री अमरजीत भगत भी घिरे..जानिए पूरा मामला

ब्रेकिंग : विधायक बृजमोहन अग्रवाल की मंत्री शिव डहरिया को चुनौती..प्रमाण रखकर आरोप लगायें..महंत ने सिंहदेव से कहा, 'आप चाय नही पिलाते..सिंहदेव का जवाब, 'बात चाय से ऊपर की है..मंत्री अमरजीत भगत भी घिरे..जानिए पूरा मामला

रायपुर. छत्तीसगढ़ विधानसभा के मानसून सत्र के चौथे दिन आज सदन की कार्यवाही शुरू हुई तो ध्यानाकर्षण में  भाजपा विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने स्वास्थ्य से जुड़ा मुद्दा उठाते हुए प्रदेश के सबसे बड़े अस्पताल मेकाहार में ओपन हार्ट सर्जरी और एनजीओप्लास्टिक के आपरेशन महीनों से ठप्प पड़े हैं। 

बृजमोहन ने यह भी पूछा कि महंगी मशीनें खराब पड़ी है मुख्यमंत्री ने भी जिन प्रकरणों को इलाज के लिए भेजा है उनका भी इलाज नहीं हो पा रहा है मरीज भटक रहे हैं और पैसे के अभाव में उनका इलाज नहीं हो पा रहा है

इस पर जवाब देते हुए स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंह देव ने कहा कि यह सही नहीं है कि मरीजों का इलाज नहीं हो पा रहा है। अचानकनक पीछे से मंत्री मंत्री शिव डहरिया ने कुछ टिप्पणी कर दी। डेहरिया ने कहा कि बृजमोहन जी इतना लंबा सवाल इसलिए कर रहे हैं क्योंकि उनका विशेष इंटरेस्ट है। वहां पर उनके ठेकेदार से जुड़े लोग काम कर रहे हैं। अग्रवाल जी को असल चिंता पेमेंट की हो रही है। इसलिए बृजमोहन जी ने यह सवाल उठाया हैं। 

इतना सुनते ही विधायक बृजमोहन अग्रवाल नाराज हो गए उन्होंने कहा कि मैं मंत्री को चुनौती देता हूं कि अगर उनके पास कोई प्रमाण है तो पटल पर रखे। मैं उसका जवाब दूंगा। 

अग्रवाल ने कहा कि मैं इतना गंभीर मसला यहां उठा रहा हूं और मंत्री इतनी लापरवाही पूर्वक आरोप लगा रहे हैं इसके बाद सदन में थोड़ी देर के लिए सन्नाटा पसर गया। बृजमोहन ने कहा कि सबूत हैं तो पटल में रखें।

इसके बाद स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव ने मामले को संभालते हुए कहा कि मंत्री जी मेरी जानकारी जितनी थी मैंने दे दी है। अगर आपको और डिटेल में जानकारी चाहिए तो मैं अलग से दे दूंगा। इसके बाद विधानसभा अध्यक्ष डॉ चरणदास महंत ने भी थोड़ा सा मामले को हल्का किया और हंसते हुए स्वास्थ्य मंत्री से पूछा कि मंत्री जी क्या आप इन्हें चाय नही पिलाते, इस पर सिंहदेव ने मुस्कुराते हुए कहा कि चाय तो पिला सकता हूं लेकिन बात इससे थोड़ा आगे की है। इसके बाद सदन में ठहाके लगे लेकिन सिंहदेव की बात का तथा सिंहदेव की टिप्पणी का कई लोग कई तरह के अर्थ निकालते रहे।  

विधायक अजय चंद्राकर और विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने स्वास्थ्य मंत्री को घेरा। बहुत सारे सवाल उठाए। लेकिन मंत्रीगण पूरे जवाब नही दे सके। विपक्ष ने आरोप लगाया कि मंत्रियों को पूरा जवाब नहीं मिल पा रहा है दरअसल मंत्रियों को अफसर सही जवाब नहीं दे पा रहे हैं और इसके चलते मंत्रियों को लज्जित होना पड़ रहा है। स्वास्थ्य मंत्री के पहले खाद्य मंत्री अमरजीत भगत को भी विपक्ष ने घेरा और उनसे कहा कि सवाल कर रहे हैं तो उसके जवाब नहीं मिल रहे हैं। अमरजीत भगत को भी कई बार नीचा देखना पड़ा।