breaking news New

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल एनएमडीसी के निजीकरण के खिलाफ, गृह मंत्री अमित शाह को लिखा पत्र, एफसीआई और धान से बायो एथेनॉल उत्पादन की मांग रखी

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल एनएमडीसी के निजीकरण के खिलाफ, गृह मंत्री अमित शाह को लिखा पत्र, एफसीआई और धान से बायो एथेनॉल उत्पादन की मांग रखी

रायपुर. प्रदेश के बड़े उद्योगों में से एक और बस्तर के विकास की प्रमुख धुरी एनएमडीसी के निजीकरण का विरोध मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किया है. उन्होंने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को लिखे पत्र में कहा है कि एनएमडीसी (नगरनार) का निजीकरण न किया जाए, इस पर अमित शाह ने विचार करने की बात कही है.

श्री बघेल ने कहा कि बस्तर में लगने वाले नए स्टील उद्योगों को 30 प्रतिशत डिस्कांउट तथा सौर ऊर्जा के क्षेत्र में काम करने की जरूरत है. इस मुलाकात के दौरान मुख्यमंत्री के अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू, सचिव सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी भी उपस्थित थे. अपने नईदिल्ली प्रवास पर रहे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने केंद्रीय मंत्रियों से मुलाकात की तथा छत्तीसगढ़ में आजीविका विकास, नक्सल क्षेत्रों में बैंकों, सड़कों, आधारभूत संरचनाओं के विकास संबंधी मुद्दों पर उनसे चर्चा की.

श्री बघेल ने एफसीआई के अतिरिक्त राज्य के किसानों से खरीदे गए अधिशेष धान से बायो एथेनॉल उत्पादन की अनुमति प्रदान करने का आग्रह किया और वनांचल क्षेत्रों में मिट्टी तेल का कोटा बढ़ाने की मांग भी की.

जानते चलें कि केन्द्र सरकार एनएमडीसी के निजीकरण की ओर कदम बढ़ा चुकी है लेकिन राज्य सरकार इसका विरोध कर रही है.